close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए पाक को जीत जरूरी, चौंका सकती है अफगानिस्तान

विश्व कप में पाकिस्तान का मुकाबला अफगानिस्तान से होना है जो पाकिस्तान के लिए अहम मैच है क्योंकि एक हार उसे सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर कर सकती है. अफगानिस्तान अभ्यास मैच में पाकिस्तान को हरा चुकी है. 

World Cup 2019: सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए पाक को जीत जरूरी, चौंका सकती है अफगानिस्तान
पाकिस्तान की टीम को अफगानिस्तान के खिलाफ सावधान रहने की जरूरत है. (फाइल फोटो)

लीड्स: आईसीसी विश्व कप 2019 (World Cup 2019)  में सेमीफाइनल की दौड़ रोचक बनी हुई है. ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है. वहीं टीम इंडिया और न्यूजीलैंड 11 अंकों के साथ ही सेमीफाइनल में पहुंचने को हैं. चौथी टीम के लिए इंग्लैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश और पाकिस्तान दौड़ में हैं जो गणित को काफी जटिल बनाएं हैं. इन चारों टीमों के लिए अपने बचे सारे मैच जीतने हैं. इसी लिहाज से शनिवार को पाकिस्तान और अफगानिस्तान (Pakistan vs Afghanistan) के बीच होने वाला मुकाबला काफी अहम हो गया है.

जीत की लय कायम रखने उतरेगी पाकिस्तान
पाकिस्तानी टीम आईसीसी विश्व कप में अफगानिस्तान के खिलाफ शनिवार को होने वाले मुकाबले में आत्ममुग्धता से बचकर अपनी शानदार लय को जारी रखने कर उम्मीद करेगी. तीन हार और एक मैच बारिश की भेंट चढ़ने के बाद पाकिस्तानी टीम पर लीग चरण से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था लेकिन उसने दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड पर जीत के साथ शानदार वापसी की और अपनी उम्मीदों को जीवित रखा.

यह भी पढ़ें: World Cup: बासित अली का बेतुका दावा- ये काम कर टीम इंडिया रोक सकती है पाक की राह

इंग्लैंड की हार ने बढ़ाई पाक की उम्मीदें
मेजबान इंग्लैंड की दो हार से 1992 की विजेता टीम की सेमीफाइनल की संभावनाएं मजबूत हो गईं. पाकिस्तान के लिए न्यूजीलैंड पर छह विकेट की जीत काफी सकारात्मक रही जिसमें बाबर आजम का शतक और शाहीन अफरीदी का पांच विकेट झटकना अहम रहे.दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड को हराने के बाद अब चिंता की बात यह है कि खिलाड़ी आत्ममुग्धता का शिकार हो सकते हैं लेकिन पाकिस्तान ऐसा बिलकुल नहीं होने देना चाहेगा.

1992 के जैसे बने हालात
मौजूदा टीम साथ ही उम्मीद करेगी कि वह वैसा ही प्रदर्शन करे जैसा 1992 में देश की टीम ने किया था और अंत में खिताब हासिल किया था. इमरान खान की उस टीम से तुलना की अनदेखी नहीं की जा सकती क्योंकि उसने भी ऐसे ही शानदार वापसी करते हुए ट्राफी जीती थी. पाकिस्तान की वापसी और इंग्लैंड को मिली हार से टूर्नामेंट में टीमों के लिए मौका बढ़ गया है लेकिन खिलाड़ी अन्य नतीजों की चिंता के बजाय अपना प्रदर्शन शानदार रखना चाहेंगे.

यह भी पढ़ें: VIDEO: World Cup 2019- विराट के बाद धोनी की धीमी पारी को मिली बुमराह की तारीफ

टीम मजबूत बनकर उभरी है
अगर पाकिस्तानी टीम अफगानिस्तान और बांग्लादेश को हरा देती है तो उसका अंतिम चार में पहुंचने का मौका बढ़ जायेगा. खराब फार्म में चल रहे शोएब मलिक की जगह हैरिस सोहेल को टीम में शामिल करने से पाकिस्तानी बल्लेबाजी में मजबूती आई है. वहीं बायें हाथ के तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी ने मोहम्मद आमिर की अगुवाई वाली गेंदबाजी इकाई को मजबूती दी है.

अफगानिस्तान भी चौंका सकती है
अफगानिस्तान की टीम ने शानदार जज्बे से सभी का दिल जीत लिया जो भारत के खिलाफ टूर्नामेंट का बड़ा उलटफेर करने की कगार पर पहुंच गयी थी. लेकिन टीम अब बेहतर खेल दिखाना चाहेगी. पाकिस्तान पर जीत से टूर्नामेंट का अंत करना उसके लिए अच्छा तरीका होगा और राशिद खान व गुलबदीन नाईब इस बात से भली भांति वाकिफ हैं. इसके अलावा अफगानिस्तान की टीम पाकिस्तान को अभ्यास मैच में हरा चुकी है. लेकिन अब हालात काफी अलग हैं.

टीमें इस प्रकार हैं:
पाकिस्तान: सरफराज अहमद (कप्तान), फखर जमां, इमाम उल हक, बाबर आजम, हैरिस सोहेल, हसन अली, शादाब खान, मोहम्मद हफीज, मोहम्मद हसनैन, शाहिन शाह अफरीदी, वहाब रियाज, मोहम्मद आमिर, शोएब मलिक, इमाम वसीम और आसिफ अली.

अफगानिस्तान: गुलबदीन नईब (कप्तान), नूर अली जादरान, हजरतुल्लाह जजाई, रहमत शाह, असगर अफगान, हशमतुल्लाह शाहिदी, नजीबुल्लाह जादरान, समिउल्लाह शिनवारी, मोहम्मद नबी, राशिद खान, दौलत जादरान, आफताब आलम, हामिद हसन, मुजीब उर रहमान, इकराम अली खिल.
(इनपुट भाषा से)