close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दुनिया भर में तूल पकड़ रहा एक्स्ट्रा रन विवाद, ECB निदेशक ने खारिज कर दी यह दलील

ईसीबी निदेशक एशले जाइन्स ने विश्व कप फाइनल मैच में एक्स्ट्रा रन विवाद को खारिज कर दिया है.

दुनिया भर में तूल पकड़ रहा एक्स्ट्रा रन विवाद, ECB निदेशक ने खारिज कर दी यह दलील
बेन स्टोक्स के बल्ले से लग कर गेंद बाउंड्री पार चली गई थी जिसके बाद इंग्लैंड को कुल छह रन मिले थे. (फोटो:Reuters)

लंदन: आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) के फाइनल मैच के आखिरी ओवर में इंग्लैंड को ओवर थ्रो में एक्स्ट्रा रन दिए जाने का विवाद तूल पकड़ रहा है.  ऑस्ट्रेलिया के पूर्व अंपयार साइनम टॉफेल के बयान के बाद दुनिया भर में इस बात पर तीखी बहस छिड़ गई है. इस बात पर हैरानी जताई जा रही है कि दो फील्ड अंपायर एक थर्ड और मैच रैफरी से यह बात कैसे नजरअंदाज हो गई. वहीं इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के निदेशक एशले जाइल्स (Ashle Giles) ने इस अतिरिक्त रन वाली बात को खारिज कर दिया है.

क्या हुआ था उस गेंद पर 
 242 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जब आखिरी ओवर में इंग्लैंड के बेन स्टोक्स ने गेंद को बाउंड्री के पास खेला और दूसरा रन लेने के लिए दौड़े तो क्रीज में पहुंचने से पहले न्यूजीलैंड के क्षेत्ररक्षक द्वारा फेंकी गई गेंद उनके बल्ले से लगकर चौके को चली गई और इंग्लैंड के खाते में कुल छह रन आ गए और यह रन न्यूजीलैंड पर कितने भारी पड़े, अब यह सभी के सामने है.

यह भी पढ़ें: World Cup Final: इंग्लैंड को ओवरथ्रो पर 6 रन देना गलत, देना चाहिए थे इतने रन- टॉफेल

क्या कहा टॉफेल ने
साइमन टॉफेल ने कहा है कि इंग्लैंड को एक रन अतिरिक्ति मिला क्योंकि जब गेंद स्टोक्स के बल्ले से टकरा कर चौके को गई तब दूसरा रन पूरा नहीं हुआ था और ऐसे में दौड़ने का एक रन और चौका मिलकर इंग्लैंड के खाते में पांच रन आने चाहिए थे न कि छह रन.

क्या कहा जाइलन्स ने
इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर जाइल्स ने हालांकि इस तरह की बातों को खारिज किया है. बीबीसी ने जाइल्स के हवाले से लिखा है, "बिलकुल नहीं. आप मुझसे यह भी कह सकते हैं कि ट्रेंट बोल्ट की अंतिम गेंद जो लेग स्टम्प पर फुलटॉस थी और अगर स्टोक्स दो रन के लिए नहीं जाते तो वे उसे छह रनों के लिए भेज सकते थे." उन्होंने कहा, "हम विश्व विजेता हैं. हमें ट्रॉफी मिली है और हम इसे अपने पास रखना चाहते हैं."

बाउंड्री काउंट नियम की भी हो रही है आलोचना
इंग्लैंड को इस मैच में कुल लगाई गई बाउंड्री के आधार पर जीत मिली थी. न्यूजीलैंड ने भी इस मैच में 241 रन बनाए और इंग्लैंड ने भी इतने ही रन बनाए. मैच सुपर ओवर में गया और यहां भी मैच टाई रहा जिसके बाद बाउंड्री ज्यादा मारने के कारण इंग्लैंड टीम विश्व विजेता बनी. दरअलसल बाउंड्री काउंट का यह नियम भी लोगों को न्याय संगत नहीं लग रहा है. इस नियम की दुनिया भर में खासी आलोचना की जा रही है. 
(इनपुट आईएएनएस)