CBSE 10th Exam: साल 2020 में इन 3 चैप्टर से नहीं पूछे जाएंगे प्रश्न

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (CBSE) ने अगले वर्ष होने वाली कक्षा 10 की परीक्षा में सोशल साइंस के 'लोकतंत्र और विविधता' पर आधारित चैप्टर से संबंधित प्रश्न नहीं पूछने का फैसला किया है.

CBSE 10th Exam: साल 2020 में इन 3 चैप्टर से नहीं पूछे जाएंगे प्रश्न

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (CBSE) ने अगले वर्ष होने वाली कक्षा 10 की परीक्षा में सोशल साइंस के 'लोकतंत्र और विविधता' पर आधारित चैप्टर से संबंधित प्रश्न नहीं पूछने का फैसला किया है. यह फैसला सत्र 2019-20 की परीक्षा में लागू होगा. इसके अलावा 'लोकप्रिय संघर्ष एवं आंदोलन', 'लोकतंत्र के समक्ष चुनौतियां' चैप्टर से भी प्रश्न नहीं पूछने का फैसला किया गया है.

फाइनल एग्जाम में नहीं पूछे जाएंगे सवाल
बोर्ड की तरफ से जारी सर्कुलर के अनुसार पीरियॉडिक टेस्ट में इन सभी चैप्टर से प्रश्न पूछे जाएंगे लेकिन बोर्ड फाइनल एग्जाम में इनमें से सवाल नहीं पूछे जाएंगे. मीडिया रिपोर्टस के अनुसार छात्रों पर सिलेबस के पढ़ने वाले अतिरिक्त बोझ को कम करने के लिए ऐसा किया गया है.

इन चैप्टर को गंभीरता से नहीं पढ़ेंगे छात्र
हिन्दुस्तान टाइम्स में प्रकाशित खबर के अनुसार बोर्ड की तरफ से कहा गया कि आंतरिक परीक्षाओं में इन अध्यायों का मूल्यांकन किया जाएगा. एक अध्यापिका ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया 'सीबीएसई ने तीनों अध्यायों को छात्रों के लिए वैकल्पिक श्रेणी में रखा था. इन चैप्टर को इंटरनल एग्जाम में शामिल किया जाएगा लेकिन बोर्ड एग्जाम में नहीं तो छात्र इन चैप्टर को गंभीरता से नहीं पढ़ेंगे.'