पढ़ें, Sherlock Holmes की रचना करने वाले आर्थर कॉनन डॉयल से जुड़े 5 रोचक किस्से

आर्थर कॉनन डॉयल  (Arthur Conan Doyle) का निधन आज ही के दिन वर्ष 1930 में हुआ था.

पढ़ें, Sherlock Holmes की रचना करने वाले आर्थर कॉनन डॉयल से जुड़े 5 रोचक किस्से

नई दिल्ली: मशहूर जासूसी किरदार, शरलॉक होम्स (Sherlock Holmes) की रचना करने वाले लेखक, आर्थर कॉनन डॉयल  (Arthur Conan Doyle) का निधन आज ही के दिन वर्ष 1930 में हुआ था. शरलॉक होम्स इकलौता ऐसा किरदार है, जिसे फिल्मी पर्दे पर सबसे ज्यादा बार निभाया गया, करीब 200 फिल्मों में 70 से ज्यादा अभिनेताओं ने इस किरदार को निभाया है.और वर्ष 1896 में आज ही के दिन पहली बार भारत में एक फिल्म दिखाई गई थी.

1. आर्थर कॉनन डॉयल पेशे से डॉक्टर थे, लेकिन उनकी पहचान बनी उनकी कलम से. ये बड़ी बात है, क्योंकि आमतौर पर डॉक्टरों की कलम पहचान पाना आसान नहीं होता. डॉयल ने शरलॉक होम्स को बनाया और फिर होम्स ने डॉयल को बनाया. 

2. कम ही लोग जानते हैं की ऑर्थर कॉनन डॉयल एक फर्स्ट क्लास क्रिकेटर भी थे. उन्होंने अपने करियर में कुल 10 फर्स्ट क्लास मैच खेले.

3. कहा तो यह भी जाता है कि उन्होंने शरलॉक का पहला नाम दो क्रिकेटर्स के नाम को जोड़कर बनाया था. ये क्रिकेटर थे, नॉटिंघमशायर के लिए खेलने वाले बॉलर TF शैकलॉक और विकेटकीपर मोरडेकाइ शेरविन. यह भी कहते हैं कि शरलॉक के भाई मायक्रॉफ्ट को रचने का ख्याल डॉयल को डर्बीशायर की टीम में एक साथ खेलने वाले दो भाइयों को देखकर आया था.

4. डॉयल ने शरलॉक के अलावा फैंटेसी और साइंस फिक्शन भी लिखा. इस थीम पर उनके 3 नॉवेल और 2 शॉर्ट स्टोरी आईं. ‘द लॉस्ट वर्ल्ड (1912)’, ‘द पॉइजन बेल्ट(1913)’, ‘द लैंड ऑफ मिस्ट (1926)’, ‘द डिसइंटिग्रेशन मशीन(1928), और ‘वेन द वर्ल्ड स्क्रीम्ड(1929). 1997 में ‘द लॉस्ट वर्ल्ड’ पर इसी नाम से एक फिल्म भी बनी थी.

5. शरलॉक की कहानियों पर फिल्में और टीवी सीरियल्स बनते रहते हैं. जिस तरह आइरीन एडलर हमेशा शरलॉक के लिए ‘द वुमन’ रही, उसी तरह शरलॉक आपने फैन्स के लिए हमेशा ‘द डिटेक्टिव’ रहेगा. 

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें