सोशल मीडिया पर छा गया 'नक्काश' का TRAILER, बनारस के मंदिरों के मुस्लिम कारीगर की है कहानी

फिल्म के निर्देशक पूर्व पत्रकार जैगम इमाम हैं, जबकि मुख्य भूमिका में 'एयरलिफ्ट', 'जॉली एलएलबी' जैसी फिल्मों में लोहा मनवा चुके अभिनेता इनामुलहक, कुमुद मिश्रा और शारिब हाशमी हैं.

सोशल मीडिया पर छा गया 'नक्काश' का TRAILER, बनारस के मंदिरों के मुस्लिम कारीगर की है कहानी
यह फिल्म 31 मई को देशभर में रिलीज होगी (फोटो साभारः वीडियो ग्रैब, यूट्यूब)

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर फिल्म 'नक्काश' का ट्रेलर चर्चा में है. हिंदू-मुस्लिम संप्रदाय पर बनी इस फिल्म की कहानी हर किसी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रही है. फिल्म के निर्देशक पूर्व पत्रकार जैगम इमाम हैं, जबकि मुख्य भूमिका में 'एयरलिफ्ट', 'जॉली एलएलबी' जैसी फिल्मों में लोहा मनवा चुके अभिनेता इनामुलहक, कुमुद मिश्रा और शारिब हाशमी हैं. 'नक्काश' का निर्माण पवन तिवारी, गोविंद गोयल और खुद जैगम इमाम ने मिलकर किया है. यह फिल्म 'गोल्डन रेशियो फिल्म्स' की तरफ से रिलीज की जा रही है और 'मेट्स एंटरटेनमेंट' द्वारा इसका वितरण किया जाएगा. अब तक इस ट्रेलर को 7 लाख से ज्यादा बार देखा जा तुका है.

मुस्लिम कारीगर अल्लाह रक्खा की है कहानी
'एबी इन्फोसॉफ्ट क्रिएशन', 'जलसा पिक्चर्स' और 'पद्मजा प्रोडक्शंस' के बैनर तले बनी फिल्म 'नक्काश' बनारस में रहने वाले एक मुस्लिम कारीगर अल्लाह रक्खा की कहानी है जो मंदिरों के गर्भगृह बनाने का काम करता है. बनारस में चल रही राजनीतिक हलचलों से अल्लाह के काम में बाधा पहुंच रही है और वह अब पहले की तरह मंदिर में खुलेआम न जाकर चुपके से जाता है, ताकि किसी को पता न चल सके कि वह मुसलमान होकर मंदिर में काम करता है.

अल्लाह रक्खा के काम को भगवान दास वेदांती का संरक्षण प्राप्त है जो मंदिरों के ट्रस्टी हैं और मशहूर शख्सियत है, लेकिन एक दिन अल्लाह रक्खा के मंदिर में काम करने का भेद पूरी तरह से खुल जाता है और फिर उसे समाज की विघटनकारी शक्तियों से किस तरह से निपटना पड़ता है यही फिल्म की कहानी है. यह फिल्म 31 मई को देशभर में रिलीज होगी. फिल्म का संगीत अमन पंत ने तैयार किया है और गाने आलोक श्रीवास्तव ने लिखे हैं. फिल्म को बनारस की खूबसूरत लोकेशन पर फिल्माया गया है.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें