नैचुरल तरीके से करें इम्यूनिटी बूस्ट, करी पत्ता-शहद और तुलसी के पत्ते का ऐसे करें इस्तेमाल
X

नैचुरल तरीके से करें इम्यूनिटी बूस्ट, करी पत्ता-शहद और तुलसी के पत्ते का ऐसे करें इस्तेमाल

हमारे घर में ऐसी तमाम औषधियां हैं जो कोरोना संक्रमण के जोखिम को कम करने में मदद करेंगी. इसमें करी पत्ता, शहद और तुलसी भी शामिल है. आइए जानें कैसे ?

नैचुरल तरीके से करें इम्यूनिटी बूस्ट, करी पत्ता-शहद और तुलसी के पत्ते का ऐसे करें इस्तेमाल

Immunity Booster: देश में एक बार फिर कोरोना के आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है. कोरोना की दूसरी लहर पहले से बहुत अधिक खतरनाक है. हालांकि कोरोना वैक्सीन आ गई है और बड़े पैमाने पर लगनी भी शुरू हो गई हैं. पर इसमें अभी समय लग सकता है. ऐसे में जरूरी हैं कि खुद का अब ज्यादा ध्यान रखा जाए. कई रिसर्च के अनुसार यह बात सामने आई है कि कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों को कोरोना का सबसे अधिक खतरा है. इसलिए जरूरी है कि आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाएं.

ये पेड़ पैदा करते हैं लाखों-करोड़ों सिलेंडर से भी ज्यादा Oxygen, बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां भी इनके आगे फेल

करी पत्ता, शहद और तुलसी करेंगे इम्यूनिटी बूस्ट
इसके लिए हमारे घर में ऐसी तमाम औषधियां हैं जो Corona संक्रमण के जोखिम को कम करने में मदद करेंगी. इसमें करी पत्ता, शहद और तुलसी भी शामिल है. आइए जानें कि कैसे हम इन तीन चीजों से अपनी इम्यूनिटी बूस्ट कर सकते हैं. काफी लोग अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कई तरह तरीके अपना रहे हैं. आप अपनी इम्यूनिटी को बाजार के फार्मेसी प्रोडक्ट के अलावा अपने पारपंरिक नेचुरल तरीकों से भी बूस्ट कर सकते हैं. हम आपको बता रहे है आसानी से घर पर बनने वाला इम्यूनिटी बढ़ाने वाले पेस्ट के बारे में...

खून में ऑक्सीजन लेवल बनाए रखने के लिए रोज खाएं ये जादूई फल, जानिए और भी अमेजिंग फायदे

ये चाहिए सामग्री 

  1. 3-4 तुलसी
  2. 3-4 करी पत्ते
  3. एक चम्मच शहद

ऐसे तैयार करें तुलसी और करी पत्ता का पेस्ट
करी पत्ता और तुलसी के पत्तों को एक पत्थर या लकड़ी से बनी चक्की या सिल पर पीस लें. (आप मिक्सर पर भी पीस सकते हैं पर मात्रा कम होने के कारण वो ज्यादा उसी में चिपक जाएगा. वैसे भी हेल्थ के लिहाज से बनाना है तो मिक्सर में बनाना अवाइड करें). इसके बाद फिर एक कटोरी में इस पेस्ट को रख लें और इसमें एक चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिला लें. इस पेस्ट का सेवन आप हर दिन कर सकते हैं. वैसे तो आप इस पेस्ट को दिन के किसी भी समय खा सकते हैं पर सुबह खाली पेट खाने से ये ज्यादा असरदार है. एक्सपर्ट भी खाली पेट खाने की सलाह देते हैं.

कभी खाया है करौंदा, नहीं न, बड़े काम का है छोटा सा Karonda, फायदे जान कहेंगे 'अब तो खाना ही पड़ेगा'

​तुलसी के फायदे
आयुर्वेद में तुलसी के पत्तों की चाय और काढ़ा को पीने की सलाह दी जाती है, जिससे सर्दी जुकाम, खांसी, बुखार, सांस संबंधी समस्याओं को दूर किया जा सकता है. तुलसी में कई तरह के एंटिऑक्सीडेंट्स गुण पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी बढ़ाने में काफी कागर हो सकते हैं. लेकिन कोरोना काल में आप तुलसी का प्रयोग इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी कर सकते हैं. काढ़ा और चाय के अलावा आप तुलसी का पानी भी जड़ी बूटी के तौर पर पी सकते हैं. तुलासी का सेवन आंखों और सांस संबंधी आदि समस्याओं के लिए भी किया जाता है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है.

हो जाएगी सब बीमारियों की छुट्टी, बस सुबह उठकर रोज खाएं मुठ्ठी भर भुने चने

करी पत्ते के लाभ
बहुत से लोग ये नहीं जानते हैं कि करी पत्ते में औषधीय गुण भी पाए जाते हैं. अगर आप अपनी डेली डाइट में करी पत्ता को शामिल करते हैं तो अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं. आयुर्वेदिक दवाइयों में तो करी पत्ते का बहुत इस्तेमाल होता है. आम तौर पर करी पत्ते की खुशबू किसी भी डिश में तड़का लगाकर उसके स्वाद को और लजीज बना देती है. पोषक तत्वों की बात करें तो करी पत्ता में विटमिन ए, बी, सी बी 12 के अलावा आयरन और कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में होता है

लाभकारी है शहद
शहद भी आयुर्वेद की पारंपरिक औषधि है और इसका प्रयोग आप किसी भी रूप में कर सकते हैं. इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी के गुण भी पाए जाते हैं. शहद का सेवन डिनर के बाद दूध में मिलाकर पीने से कई शारीरिक और मानसिक लाभ होते हैं. शहद में मुख्य रुप में फ्रक्टोज पाया जाता है. इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, राइबोफ्लेविन, नायसिन, विटामिन बी-6, विटामिन सी और एमिनो एसिड के अलावा एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. 

अगर आप अपनी डाइट में हरी सब्जियां, फल, अंकुरित अनाज के साथ-साथ ऐसी चीजें शामिल कर रहे है जिसमें अधिक मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते है तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता हमेशा मजबूत रहेगी.

डिस्क्लेमर
इस लेख में दी गई सेहत से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसे किसी बीमारी के इलाज या फिर चिकित्सा सलाह के तौर पर नहीं देखना चाहिए. यहां बताए गए टिप्स पूरी तरह से कारगर होंगे इसका हम कोई दावा नहीं करते हैं. यहां दिए गए किसी भी टिप्स या सुझाव को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

दवा से भी ज्यादा फायदेमंद है दूध में पिसी हुई चिरौंजी, सर्दी-जुकाम से लेकर दूर करेगी शरीर की कमजोरी

WATCH LIVE TV

Trending news