Red Fort Violence: दीप सिद्धू की गिरफ्तारी किसी भी वक्त, पंजाब पहुंची दिल्ली पुलिस की 2 टीमें
X

Red Fort Violence: दीप सिद्धू की गिरफ्तारी किसी भी वक्त, पंजाब पहुंची दिल्ली पुलिस की 2 टीमें

पंजाबी सिंगर दीप सिद्धू की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है. दिल्ली पुलिस की 2 टीमें पंजाब पहुंच गई हैं. दीप सिद्धू पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल क़िले पर लोगों को उकसाने का आरोप है. वहीं NIA ने भी सिद्धू को समन जारी किया हुआ है. 

Red Fort Violence: दीप सिद्धू की गिरफ्तारी किसी भी वक्त, पंजाब पहुंची दिल्ली पुलिस की 2 टीमें

नई दिल्ली: किसानों की ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) के दौरान लाल क़िले (Red Fort Violence) पर लोगों को उकसाने के मुख्य आरोपी बताए जाने वाले दीप सिद्धू (Deep Sidhu) को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की दो टीमें पंजाब (Punjab) के लिए रवाना हो गई हैं. 

क्राइम ब्रांच पहले ही पंजाब में मौजूद

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, क्राइम ब्रांच (Delhi Crime Branch) की एक टीम पहले ही पंजाब में मौजूद है, जो अलग-अगल जगहों पर रेड कर दीप सिद्घू की तलाश कर रही है. ऐसे में दिल्ली पुलिस की दो अन्य टीमें पंजाब के लिए रवाना होना सिद्धू के लिए मुश्किलें बढ़ने का संकेत है. अधिकारियों के अनुसार, बहुत जल्द दीप सिद्धू को गिरफ्तार कर दिल्ली लाया जाएगा. 

ये भी पढ़ें:- Farmers Protest: हरियाणा के इन जिलों में बढ़ाया गया इंटरनेट पर बैन

दिल्ली पुलिस और NIA ने भेजा था नोटिस

बताते चलें कि इससे पहले दीप सिद्धू को सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के साथ कनेक्‍शन को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने समन भी जारी किया था. वहीं दिल्ली पुलिस ने भी हिंसा की कार्रवाई करते हुए सिद्धू को लुक आउट नोटिस भेजा था. लेकिन दीप सिद्धू पुलिस के सामने पेश नहीं हुए. सिद्धू ने अपने फेसबुक पेज पर सरेंडर करने के लिए दो दिन का समय मांगा.

ये भी पढ़ें:- किसानों के लिए खुशखबरी, बढ़ने वाली है PM Kisan Samman Nidhi की रकम!

सिद्धू ने कबूली लाल किले में होने की बात

इस वीडियो में दीप सिद्धू ने ये भी कबूला था कि जब लाल क़िला (Red Fort)  पर 'निशान साहिब' (Nishan Sahib) का झंडा फहराया गया, तब वो वहां मौजूद थे. हालांकि उन्‍होंने ये कहकर अपना बचाव भी किया कि उन्‍होंने या उनके समर्थकों ने तिरंगे झंडे (National Flag) को वहां से हटाया नहीं था. 'निशान साहिब' का झंडा फहराना विरोध का एक सांकेतिक तरीका था. 

LIVE TV

Trending news