close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगस्ता वेस्टलैंड केसः जानें कौन है राजीव सक्सेना, क्या है हेलीकॉप्टर घोटाले से कनेक्शन

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले मामले में आरोपी राजीव सक्सेना के अलावा पत्नी शिवानी सक्सेना को भी 2017 में चेन्नई हवाई अड्डे से पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. 

अगस्ता वेस्टलैंड केसः जानें कौन है राजीव सक्सेना, क्या है हेलीकॉप्टर घोटाले से कनेक्शन
राजीव शमशेर बहादुर सक्सेना बुधवार देर शाम दिल्ली लाया गया (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले मामले में मोदी सरकार को एक और बड़ी कामयाबी मिली है, जहां क्रिश्चियन मिशेल के बाद अब दो और आरोपियों राजीव सक्सेना और दीपक तलवार को दुबई से भारत लाया गया है. जिन्हें फिलहाल प्रवर्तन निदेशालय में रखा गया है, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों को आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां पेशी के दौरान पूछताछ के लिए कोर्ट से रिमांड मांगी जाएगी. बता दें अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले मामले में आरोपी राजीव सक्सेना के अलावा पत्नी शिवानी सक्सेना को भी 2017 में चेन्नई हवाई अड्डे से पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. शिवानी पर आरोप है कि उनकी दुबई स्थित दो फर्मों ने मनी लॉन्ड्रिंग किया है.

क्रिश्चियन मिशेल ED जांच में नहीं कर रहा सहयोग, हर सवाल पर कहता है, कोई जानकारी नहीं

कौन है राजीव सक्सेना
दुबई के पॉम जुमैरिया में रहने वाले राजीव सक्सेना का पूरा नाम राजीव शमशेर बहादुर सक्सेना है. पेशे से CA राजीव दुबई की एक कंपनी यूएचवाई सक्सेना एंड मैट्रिक्स होल्डिंग के निदेशक हैं. इसेक अलावा राजीव मॉरीशस की एक कंपनी इंटरसेलर टेक्नोलॉजी लिमिटेड के निदेशक और शेयरहोल्डर भी हैं.

राजीव सक्सेना के खिलाफ गैरजमानती वॉरंट
बता दें अगस्ता वेस्टलैंड मामले में ईडी ने दायर आरोप पत्र में राजीव सक्सेना को नामजद करते हुए उसके खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी करवाया था. ईडी के आरोप पत्र पर 6 अक्टूबर 2018 को दिल्ली की एक अदालत ने राजीव सक्सेना के खिलाफ गैरजमानती वॉरंट जारी किया था.

VVIP हेलीकॉप्टर मामला: बड़ी कामयाबी, आरोपी राजीव सक्सेना को दुबई से लाया गया भारत

UAE स्टेट सिक्योरिटी ने घर से उठाया
वहीं राजीव सक्सेना के वकील प्रतीक यादव और गीता लूथरा की मानें तो इससे पहले UAE स्टेट सिक्योरिटी ने राजीव को उनके घर से उठाकर अवैध तरीके से भारत में प्रत्यर्पित कर दिया था.

क्या है आरोप ?
राजीव सक्सेना पर आरोप है कि उसने और उसकी पत्नी शिवानी ने अग्सता वेस्टलैंड डिफेंस डील में 58 यूरो मिलियन शैल कंपनियों के जरिये डील कराने वाले लोगों के खातों में पहुंचाये थे. जिसके बाद इन कंपनियों ने ये पैसा Consultancy के नाम पर M/s Intersteller Technologies Ltd, Mauritius और फिर M/s UHY Saxena, Dubai और M/s Matrix Holdings Ltd, Dubai के खातों में डाले. दुबई की ये दोनो कंपनियां और Mauritius की Intersteller राजीव सक्सेना की हैं.

दुबई की कंपनी में पत्नी शिवानी भी पार्टनर
बता दें दुबई की दोनों कंपनियों में राजीव की पत्नी शिवानी भी पार्टनर है. दुबई की दोनो कंपनियों में मॉरिशस की कंपनी से पैसा दुबई के बैंक खातों में डाला गया था. उसके बाद ये पैसा अलग-अलग जगह भेजा गया.

अगस्ता वेस्टलैंड केसः राजीव सक्सेना, दीपक तलवार को 2 बजे कोर्ट में पेश किया जाएगा

अलग-अलग शैल कंपनियों के जरिए भेजा गया पैसा
जो पैसा डिफेंस डील के नाम पर राजीव और शिवानी की कंपनियों में डाला गया था वह किसके कहने पर आया इसकी जांच अभी जारी है. वहीं इसी जांच के चलते राजीव को भारत डिपोर्ट किया गया था.  बता दें जिस वक्त अलग-अलग शैल कंपनियों के जरिए पैसा भेजा गया था उस वक्त Christine Michale भी दुबई में था. लिहाजा राजीव का भारत लाया जाना भारत की जांच एजेंसियों के लिये बड़ी कामयाबी है.