close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मां की हसरत पूरा करने के लिए किया यह गुनाह, सलाखों के पीछे पहुंच गए बेटा और बहू

मां की हसरत को पूरा करने के लिए दिल्‍ली एयरपोर्ट के टर्मिनल-थ्री में दाखिल हुए थे अफगानी युवक और युवती, दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने दोनों को किया गिरफ्तार.

मां की हसरत पूरा करने के लिए किया यह गुनाह, सलाखों के पीछे पहुंच गए बेटा और बहू
सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस विंग ने अफगानी दंपति को एयरपोर्ट के चेक-इन एरिया से लिया है हिरासत में. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: अपनी मां की हसरत पूरा करने के चक्‍कर में बेटा और बहू एक बड़ा गुनाह कर बैठे. इस गुनाह के चलते बेटे और बहू को सुरक्षा एजेंसियों ने हिरासत में लेकर सलाखों के पीछे भेज दिया है. दरअसल, यह मामला दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट का है. जहां विदेश जा रही मां की मदद करने के इरादे से अफगानिस्‍तान मूल का एक दंपति गैर कानूनी तरीके से एयरपोर्ट के दाखिल हो हुआ था. एयरपोर्ट से बाहर निकलने की कोशिश के दौरान इस दंपति को सीआईएसएफ ने हिरासत में ले लिया. प्रारंभिक पूछताछ के बाद सीआईएसएफ ने इस दंपति को दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया है. दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने इस अफगानी दंपति के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. 

एयरपोर्ट सुरक्षा से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस यूनिट ने आईजीआई एयरपोर्ट के टर्मिनल थ्री के चेक-इन एरिया में एक युवक और युवती को संदिग्‍ध हालत में घूमते हुए देखा. सीआईएसएफ इंटेलीजेंस यूनिट के अधिकारियों ने महसूस किया कि युवक और युवती लगातार टर्मिनल गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मियों की गतिविधियों पर बड़ी बारीकी से नजर बनाए हुई है. युवक और युवती की इस गतिविधि को देख सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस यूनिट ने दोनों को हिरासत में ले लिया. प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि संदिग्‍ध युवक-युवती मूल रूप से अफगानिस्‍तान के रहने वाले हैं. दोनों के बीच पति और पत्‍नी का रिश्‍ता है. 

यह भी पढें: IGI AIRPORT: सफेद चंदन के शौक ने सूडान के नागरिक को भेजा सलाखों के पीछे

एयरपोर्ट के वरिष्‍ठ सुरक्षा अधिकारी ने बताया‍ कि पूछताछ के दौरान दोनों की पहचान मोहम्‍मद जदी खालिआबाद और फरीदा खलियाबाद के रूप में की गई. जांच में पता चला कि ये दोनों काम एयर की फ्लाइट RQ-916 की एयर टिकट दिखाकर टर्मिनल बिल्डिंग में दाखिल हुए थे. सीसीटीवी की पड़ताल में पता चला कि इस दंपति के साथ एक बुजुर्ग महिला भी टर्मिनल बिल्डिंग में दाखिल हुईं थी. पूछताछ करने पर पता चला कि बुजुर्ग महिला जदी की मां है. वह काम एयर की इसी फ्लाइट से कुछ समय पहले ही काबुल के लिए रवाना हुई है. दोनों ने सुरक्षा एजेंसियों ने बताया कि उनकी मां पहली बार अकेले हवाई यात्रा कर रही थी. जिसके चलते, वह एयरपोर्ट पर होने वाली प्रक्रियाओं को लेकर परेशान थी.

यह भी पढें: दिल्‍ली एयरपोर्ट: तस्‍करी के लिए बनाया सोने का पेस्‍ट, CISF के सामने नहीं चली होशियारी

यह भी पढें: विदेशी नगदी की तस्‍करी के आरोप में CISF ने तंजानिया मूल की महिला को किया गिरफ्तार

वरिष्‍ठ सुरक्षा अधिकारी के अनुसार, बुजुर्ग मां ने अपने बेटे से इच्‍छा जाहिर की थी कि किसी भी तरह वह एयरपोर्ट की प्रक्रिया के दौरान उसके साथ रहे. मां की इस हसरत को पूरा करने के लिए जदी और उसकी पत्‍नी फरीदा ने इसी फ्लाइट में अपनी टिकट बुक कराई और फिर कैंसिल करा दी. जिसके बाद, दोनों इसी कैंसिल एयर टिकट की मदद से टर्मिनल में दाखिल हुए. मां को रवाना करने के बाद दोनों टर्मिनल बिल्डिंग से बाहर निकलने की फिरांक में थे. चूंकि, टर्मिनल गेट पर तैनात सीआईएसएफ के अधिकारी बाहर जाने वाले हर शख्‍स के बारे में एयरलाइंस से पूछताछ कर रहे थे, लिहाजा वे टर्मिनल गेट से बाहर निकलने की हिम्‍मत नहीं जुटा पा रहे थे. वे टर्मिनल बिल्डिंग से बाहर निकलने में सफल हो पाते, इससे पहले सीआईएसएफ ने दोनों को हिरासत में ले लिया. 

यह भी पढें: भारतीय पोसपार्ट पर इंडोनेशिया जाने की कोशिश में था म्यांमार मूल का नागरिक, गिरफ्तार

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के बताया कि भले ही इस दंपति का इरादा नेक रहा हो, लेकिन कानून की नजर में वह गुनाह था. उन्‍होंने कहा कि यदि किसी मुसाफिर के सामने ऐसी स्थित है तो वह कानून को अपने हाथ में लेने की जगह, एयरपोर्ट हेल्‍प डेस्‍क से मदद ले सकते है. एयरपोर्ट हेल्‍प डेस्‍क के अलावा सीआईएसएफ ने भी अपनी एक हेल्‍प डेस्‍क लगाई है, जिसकी मदद जरूरत मंद मुसाफिर ले सकते हैं.