राहुल गांधी का ममता को समर्थन, लेकिन कांग्रेस सांसद बोले- बंगाल में नहीं है लोकतंत्र

अधीर रंजन चौधरी ने ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की वर्तमान के सहयोग से ही सारदा चिट फंड घोटाले को लोगों ने अंजाम दिया. 

राहुल गांधी का ममता को समर्थन, लेकिन कांग्रेस सांसद बोले- बंगाल में नहीं है लोकतंत्र
अधीर रंजन चौधरी वह नेता हैं, जो कांग्रेस और तृणमूल के गठबंधन के सबसे ज्‍यादा खिलाफ हैं.
Play

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में सीबीआई के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली सीएम ममता बनर्जी के पक्ष में देश की कई राजनीतिक पार्टियां उतर आई हैं. वहीं, पश्‍च‍िम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी सरकार और सीबीआई के बीच छिड़ी जंग के बीच कांग्रेस उलझ गई है. कांग्रेस आलाकमान जहां ममता के साथ नजर आ रहा है. वहीं, पश्चिम बंगाल के कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद अधीर रंजन चौधरी ने एक बार फिर से इस मामले में सीएम ममता बनर्जी को गलत ठहराया है.

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र पूरी तरह से खत्म हो चुका है. उन्होंने ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की वर्तमान के सहयोग से ही सारदा चिट फंड घोटाले को लोगों ने अंजाम दिया. उन्होंने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को ममता बनर्जी का नौकर तक कह डाला. चौधरी ने कहा कि राजीव कुमार वही करेंगे जो ममता बनर्जी कहती हैं. 

 

इससे पहले रविवार को चौधरी ने कहा था कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जांच की जा रही है. लेकि‍न ममता बनर्जी डाकुओं और चोरों के साथ खड़ी हैं. ये कैसा राज्‍य है, जहां भ्रष्‍ट पुलिस अधिकारी के बचाव में वह धरना प्रदर्शन कर रही हैं. अधीर रंजन चौधरी ने कहा अब वक्‍त आ गया है कि‍ बंगाल में राष्‍ट्रपति शासन लगाया जाए.

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी हैं टीएमसी के कट्टर आलोचक
अधीर रंजन चौधरी ने तो साफ कर दिया है कि भले उनकी पार्टी आलाकमान की कुछ भी सोच हो, लेकिन वह सोचते हैं कि इस मामले में ममता बनर्जी गलत हैं, क्‍योंकि वह अपनी आंखों से रोजाना प्रदेश में गलत होता देख रहे हैं. बता दें कि अधीर रंजन चौधरी ही वह नेता हैं, जो कांग्रेस और तृणमूल के गठबंधन के सबसे ज्‍यादा खिलाफ हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.