दिल्ली: जामिया नगर हिंसा पर कांग्रेस बोली- छात्रों की आवाज दबाना चाहती है पुलिस

कांग्रेस ने जामिया नगर हिंसा पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पुलिस छात्रों की आवाज दबाना चाहती है. 

दिल्ली: जामिया नगर हिंसा पर कांग्रेस बोली- छात्रों की आवाज दबाना चाहती है पुलिस
कांग्रेस का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने जामिया के छात्रों पर लाठीचार्ज किया, जिसकी पार्टी कड़ी निंदा करती है.

नई दिल्ली: कांग्रेस ने जामिया नगर हिंसा पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पुलिस छात्रों की आवाज दबाना चाहती है. कांग्रेस का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने जामिया के छात्रों पर लाठीचार्ज किया, जिसकी पार्टी कड़ी निंदा करती है. कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि असम से लेकर दिल्ली जल रहा है लेकिन पीएम मोदी चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं. 

कांग्रेस प्रवक्ता रणजीत सुरजेवाला ने अपने एक ट्वीट में कहा, "दिल्ली जल रही है, असम, त्रिपुरा, मेघालय जल रहा है, बंगाल में हिंसा फैली है, गृह मंत्री को उत्तरपूर्व जाने की हिम्मत नहीं. जापान के PM का दौरा रद्द करना पड़ा, पर मोदीजी झारखंड में चुनाव प्रचार में मगन हैं. जो विरोध करे वो देशद्रोही करार, जामिया इसका ताज़ा उदाहरण है."

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने जामिया नगर हिंसा पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "जो तस्वीरें आ रही है, हृदय-विदारक हैं. हम आगजनी के खिलाफ हैं पर पुलिस भी ऐसा नहीं कर सकती. वीसी और पॉक्टर  ने इजाजत नहीं दी तो पुलिस कैसे अंदर जा सकती है? .पुलिस को स्टूडेंट को क्रिमिनल की तरह ट्रीट नहीं करनी चाहिए. बच्चे कह रहे हैं कि पुलिस ने गाड़ियां जलाईं तो यह बहुत गंभीर आरोप है. बुनियादी क्रिमिनल तो सरकार है. जब बिल पास हुआ था तब भी हमने सरकार को मना किया था. पूरा उत्तर-पूर्व जल रहा है." 

ये भी देखें: 

गौरतलब है कि दिल्ली में आज नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन उग्र हो गया. जामिया इलाके के पास हिंसक प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग लगा दी. कुछ उपद्रवियों ने जामिया यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में भी तोड़फोड़ की. दिल्ली पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों ने पूरी तैयारी के साथ हमला किया. हालांकि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कहा है कि छात्र हिंसा में शामिल नहीं थे. फिलहाल जामिया इलाके में हालात काबू में हैं. हिंसा वालों इलाकों में सभी स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. दिल्ली में 16 मेट्रो स्टेशन भी बंद कर दिए गए हैं. उधर, जामिया यूनिवर्सिटी के समर्थन में जेएनयू के छात्र उतर आए हैं. काफी लोग दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. ये दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं.