close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

5 साल में हमारे परिवारों पर बढ़ा 4.11 करोड़ रुपए का कर्ज: अजय माकन

रिजर्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में पारिवारिक कर्जों को लेकर महत्‍वपूर्ण रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के अनुसार, 2013-14 में यह कर्ज करीब 3.30 लाख करोड़ रुपए था.

5 साल में हमारे परिवारों पर बढ़ा  4.11 करोड़ रुपए का कर्ज: अजय माकन
एलआईसी में करीब 1.12 लाख कर्मचारी हैं और 10.72 लाख सक्रिय एजेंट एलआईएसी से जुड़े हुए हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अजय माकन ने रिजर्व बैंक की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि बीते पांच सालों में हमारे परिवारों पर करीब 4.11 लाख करोड़ रुपए का कर्ज बढ़ गया है. उन्‍होंने बताया कि रिजर्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में पारिवारिक कर्जों को लेकर महत्‍वपूर्ण रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के अनुसार, 2013-14 में यह कर्ज करीब 3.30 लाख करोड़ रुपए था. 

अजय माकन के अनुसार, 2017-18 में यह कर्ज बढ़कर करीब 7.41 लाख करोड़ पहुंच गया. यानी, केवल पिछले पांच सालों में हमारे परिवारों पर 4.11 लाख करोड़ रुपए का कर्ज बढ़ गया है. अजय माकन ने एलआईसी के 11.94 लाख करोड़ रुपए का निवेश 'रिस्‍की पब्लिक सेक्‍टर' में किया था. लेकिन, केवल पांच सालों में यह निवेश बढ़कर करीब 22.64 लाख करोड़ रुपए हो गया है. 

यह भी पढ़ें:  IDBI बैंक को बेलआउट पैकेज की मंजूरी, सरकार देगी 9 हजार करोड़ रुपये की मदद

उन्‍होंने कहा कि सिर्फ 5 सालों में 10.70 लाख करोड़ रुपए का निवेश "रिस्की पब्लिक सेक्टर" में हुआ है. एलआईसी के निवेश पर चिंता जाहिर करते हुए उन्‍होंने कहा है कि वर्तमान समय में एलआईसी की वैल्‍यू करीब 31.11 लाख करोड़ रुपए की है. देश में कीरब 29 करोड़ एलआईसी के पॉलिसी धारक हैं. इसके अलावा, एलआईसी में करीब 1.12 लाख कर्मचारी हैं और 10.72 लाख सक्रिय एजेंट एलआईएसी से जुड़े हुए हैं. 

LIVE TV...

यह भी पढ़ें: LIC ग्राहक अक्सर करते हैं ये गलतियां, ध्यान नहीं रखा तो होगी परेशानी

अजय माकन के अनुसार, ये आंकड़े बताते हें कि लाखों लोगों की निर्भरता एलआईसी है. उन्‍होंने चिंता जाहिर करते हुए का कि 2014 के बाद से यह निवेश साल-दर-साल बढ़ता ही गया. यह आम पॉलिसीधारकों का पैसा था. 2018 में एलआईसी ने 21 हजार करोड़ रुपए IDBI बैंक में निवेश किया और उसका शेयर 51% हो गए. वह सारा पैसा "वाइप आउट" हो गया है, क्‍योंकि उनकी देनदारियां ज्‍यादा थी.