दिल्ली चुनाव: ये हैं बीजेपी के वो 5 बड़े चेहरे जिन्हें AAP से मिली करारी शिकस्त

विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में आम आदमी पार्टी (AAP) को प्रचंड जीत मिली है. खबर लिखे जाने तक AAP, 59 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है और 3 सीटों पर आगे चल रही है. इस चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है. 

दिल्ली चुनाव: ये हैं बीजेपी के वो 5 बड़े चेहरे जिन्हें AAP से मिली करारी शिकस्त

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में आम आदमी पार्टी (AAP) को प्रचंड जीत मिली है. खबर लिखे जाने तक AAP, 59 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है और 3 सीटों पर आगे चल रही है. इस चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है. ऐसे में बीजेपी के उन तमाम दावों पर सवाल उठ रहे हैं जो उसने चुनाव के समय जनता से किए थे. दिल्ली चुनाव में बीजेपी के कई बड़े नेताओं को करारी हार मिली है. बीजेपी के हाथ से कई महत्वपूर्ण सीटें निकल गई हैं.   

कपिल मिश्रा

बीजेपी के कपिल मिश्रा मॉडल टाउन सीट से चुनाव लड़े थे. कपिल मिश्रा का चुनाव हारना इसलिए भी चर्चा का विषय है क्योंकि वह पहले आम आदमी पार्टी में थे और उन्हें अरविंद केजरीवाल का खास माना जाता था. वह आप का दामन छोड़कर बीजेपी से चुनाव लड़े लेकिन निराशा ही हाथ लगी. इस सीट से AAP के अखिलेश पति त्रिपाठी को जीत मिली है. 

तेजिंदर सिंह बग्गा
अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले बीजेपी नेता तेजिंदर सिंह बग्गा हरिनगर सीट से चुनाव हार गए हैं. तेजिंदर सिंह बग्गा का हारना इसलिए भी चर्चा का विषय है कि उन्होंने बीजेपी के लिए जमकर प्रचार किया था और विरोधियों पर तमाम मुद्दों के साथ लगातार निशाना साधा था. इस सीट से आप की राजकुमारी ढिल्लों जीती हैं. 

शिखा राय
दिल्ली का पॉश इलाका माने जाने वाले ग्रेटर कैलाश से बीजेपी की शिखा राय को हार का सामना करना पड़ा है. इस सीट से आप प्रत्याशी सौरभ भारद्वाज ने जीत हासिल की है. 

सुमन कुमार गुप्ता

दिल्ली की चांदनी चौक सीट को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. इस सीट से बीजेपी के सुमन कुमार गुप्ता को हार का सामना करना पड़ा है. उन्हें आम आदमी पार्टी के प्रह्लाद सिंह साहनी ने हराया है. 

ब्रह्म सिंह

बीजेपी के ब्रह्म सिंह दिल्ली की ओखला सीट से चुनाव लड़े थे. उन्हें यहां से हार का सामना करना पड़ा है. यह सीट इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि शाहीन बाग, ओखला में ही आता है. और दिल्ली चुनावों में शाहीन बाग एक बड़ा मुद्दा बना था. यहां से AAP के अमानतुल्ला को जीत हासिल हुई है.