close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली विधानसभा में उठी राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने की मांग

 दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री राजीव गांधी को दिए गए भारत रत्न को वापस लेने की मांग उठी. 

दिल्ली विधानसभा में उठी राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने की मांग
गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद उनके बेटे राजीव गांधी ने देश की बागड़ोर संभाली थी. वर्ष 1991 में उन्हें ‘भारत रत्न’ प्रदान किया गया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री राजीव गांधी को दिए गए भारत रत्न को वापस लेने की मांग उठी. इस संबंध में उस वक्त अजीबो गरीब मीडिया में यह खबर आई की राजीव गांधी से भारत रत्न लेने का यह प्रस्ताव पास हो गया. 

इसके बाद आम आदमी पार्टी के विधायक और पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने मामले पर सफाई दी. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि स्वर्गीय राजीव गांधी से जुड़ी लाइनें प्रस्ताव का हिस्सा नहीं थे. एक विधायक ने राजीव गांधी से जुड़ी लाइनें अपने हाथों से प्रस्ताव पर लिख दी. उन्होंने कहा, इस तरीके प्रस्ताव पास नहीं हो सकता है.

Demand for withdrawing 'Bharat Ratna' to Rajiv Gandhi in Delhi Assembly
सौरभ भारद्वाज किया गया ट्वीट

हालांकि विधानसभा में नेता विपक्ष और बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने ट्वीट करके यह दावा किया कि राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने का प्रस्ताव पास हो गया है और अब यह सदन की कार्रवाई का अंग बन गया.

Demand for withdrawing 'Bharat Ratna' to Rajiv Gandhi in Delhi Assembly
विजेंद्र गुप्ता द्वारा किया गया ट्वीट

बता दें दिल्ली हाई कोर्ट ने सोमवार (17 नवंबर) को कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को 1984 के सिख विरोधी दंगों से संबंधित एक मामले में दोषी ठहराते हुए उन्हें ताउम्र कैद की सजा सुनाई थी. अदालत ने कहा कि ये दंगे 'मानवता के खिलाफ अपराध' थे और कानून लागू करने वाली एजेंसियों की मदद से उन लोगों द्वारा किए गए जिन्हें 'राजनीतिक संरक्षण' प्राप्त था.