close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली में बैठकर US-कनाडा के लोगों को लगा रहे थे चूना, कॉल सेंटर से 14 लोग गिरफ्तार

पुलिस जांच में पता चला कि कुछ लोग भारत से कॉल सेंटर के जरिये अमेरिकी और कनाडा के नागरिकों को तकनीकी सपोर्ट देने के बहाने उन्हें टेली कालिंग करते हैं. 

दिल्ली में बैठकर US-कनाडा के लोगों को लगा रहे थे चूना, कॉल सेंटर से 14 लोग गिरफ्तार

नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की साइबर यूनिट ने अमेरिका और कनाडा के लोगों के साथ ठगी करने वाले एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए 14 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनके पास से 259 कम्प्यूटर भी जब्त किए हैं. पुलिस के मुताबिक इन लोगों ने सैकड़ों विदेशियों को करोड़ों का चूना लगाया है. साइबर क्राइम यूनिट के डीसीपी अनिमेष रॉय के मुताबिक कुछ दिन पहले एक अमेरिकी नागरिक ने शिकायत की कि कुछ लोगों ने सॉफ्टवेयर की समस्या को ठीक करने के लिए कुछ लोगों ने ऑनलाइन सर्विस के जरिये तकनीकी मदद करने की पेशकश की,उसे सर्विस तो नहीं मिली लेकिन उसका पूरा पैसा हड़प लिया गया.

पुलिस जांच में पता चला कि कुछ लोग भारत से कॉल सेंटर के जरिये अमेरिकी और कनाडा के नागरिकों को तकनीकी सपोर्ट देने के बहाने उन्हें टेली कालिंग करते हैं,पुलिस ने उस जगह की पहचान दिल्ली के कीर्ति नगर में की और फिर 26 मार्च को कॉल सेंटर में छापा मारकर 14 लोगों  आकाश,शाहबाज़,परविन्द सिंह,अभिषेक,अविनाश,दीपक पाल ,गौरव कुडिया, मिथुन,नवनीत शर्मा,बिश्वजीत ,अंकुर,रंजीत,राजकुमार और राजकुमार लाल को गिरफ्तार कर लिया. 

आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि आरोपियों ने कम समय मे जल्दी पैसा कमाने के लिए ये कॉल सेंटर खोला था,इन लोगों ने ऑनलाइन सर्विस देने के लिए अमेरिका की एक फ़र्ज़ी वेबसाइट बनाई और उसमें अमेरिका का फ़र्ज़ी पता भी लिखा,इन्होंने तकनीकी तौर पर कुछ इस तरह किया कि गूगल सर्च इंजन में इनकी वेबसाइट टॉप रिजल्ट्स में आती थी ,जब इनसे लोग संपर्क करते तो ये कॉल करने वाले के कम्प्यूटर को अपने कंट्रोल में कर या तो उसके सॉफ्टवेयर में कोई समस्या पैदा कर देते या फिर पहले से पैदा हुई समस्या को ठीक करने के बहाने गूगल प्ले गिफ्ट कार्ड्स या आई ट्यून्स कार्ड्स के जरिये पैसा ले लेते ,उसके बाद कस्टमर से बात बंद कर देते थे.

कस्टमर्स का डेटा ये लोग डाटा वेंडर्स से लेते थे,कभी कभी ये लोग अमेरिका और कनाडा के नागरिकों को ये कहकर ठगते थे कि उनका आईफोन पर हैकर्स ने हमला बोल दिया और उसे ठीक करने के बहाने ये लोग 5-6 घण्टे तक कस्टमर्स को व्यस्त रखते जैसे ही गूगल प्ले गिफ्ट कार्ड्स के जरिये सैकड़ों डॉलर आते ये लोग कॉल काट देते थे.