हवा की गति बढ़ने से दिल्ली की वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शहर का कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 394 रहा था जो काफी खराब श्रेणी में आता है.

हवा की गति बढ़ने से दिल्ली की वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार

नई दिल्ली: दिल्ली में शुक्रवार को हवा की गति बढ़ने से वायु की गुणवत्ता में कुछ सुधार हुआ हालांकि यह ‘काफी खराब’ श्रेणी में बनी रही. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. गुरुवार को वायु गुणवत्ता ‘गंभीर श्रेणी’ में पहुंच गई थी. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शहर का कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 394 रहा था जो काफी खराब श्रेणी में आता है.

100 से 200 के बीच का सूचकांक ‘मध्यम’ श्रेणी में आता है जबकि 201 से 300 का सूचकांक ‘‘खराब’’ श्रेणी में और 301 से 400 का सूचकांक ‘काफी खराब’ श्रेणी में आता है. 401 से 500 के बीच का सूचकांक ‘गंभीर’ माना जाता है. 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को 11 इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में रही जबकि 18 स्थानों पर यह ‘‘काफी खराब’’ श्रेणी में रहा.राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘‘गंभीर’’ श्रेणी में रही जबकि फरीदाबाद, गुड़गांव और नोएडा की वायु गुणवत्ता ‘‘काफी खराब’’ श्रेणी में रही. 

केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने कहा कि कुल मिलाकर वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है और यह ‘गंभीर’ से ‘काफी खराब’ श्रेणी में आ गयी. इसकी वजह हवा की गति बढ़कर 3.8 किलोमीटर प्रति घंटा होना है हालांकि घना कोहरा सहित अन्य प्रतिकूल परिस्थितियां मौजूद हैं. सफर ने कहा कि वायु गुणवत्ता में मामूल सुधार होने की उम्मीद है हालांकि सूचकांक के काफी खराब श्रेणी में बने रहने की संभावना है.

(इनपुट - भाषा)