हिसार: घर में सोया था परिवार, शॉर्ट सर्किट बना 'यमराज', 3 लोग की जिंदा जले

घटना के बाद दमकल विभाग को मामले की सूचना दी गई, लेकिन कच्चा रास्ता होने की वजह से गाड़ी मौके पर नहीं पहुंच सकी और ये हादसा हो गया.

हिसार: घर में सोया था परिवार, शॉर्ट सर्किट बना 'यमराज', 3 लोग की जिंदा जले
घटना के बाद गांव में शोक का माहौल है.

हिसार: हिसार के उकलाना के नजदीकी गांव भैरी अकबरपुर की खेतों में बनी ढाणी में शॉर्ट सर्किट से एक मकान में आग लग गई. गई. हादसे में तीन लोगों की दर्दनाक मौत हो गई. जबकि 4 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को हिसार के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. घटना के बाद दमकल विभाग को मामले की सूचना दी गई, लेकिन कच्चा रास्ता होने की वजह से गाड़ी मौके पर नहीं पहुंच सकी और ये हादसा हो गया.

जानकारी के मुताबिक, हरियाणा के हिसार में उकलाना के नजदीकी गांव भैरी अकबरपुर के पास खेत में घर (ढ़ाणी) बनाकर रह रहे सुरेश के घर में शुक्रवार रात करीब 1 बजे जोरदार धमाके साथ आग लग गई. सुरेश और प्रभु नाम के दो भाइयों के परिवार के 8 सदस्यों के साथ शुक्रवार (09 फरवरी) की रात को खाना खाकर सोए थे. आधी रात को घर में सो रहे लोगों का दम घुटने लगा, देखा तो घर को आग की लपटों ने घेर रखा है.
मौके पर मची चीख पुकार के चलते पड़ोसी भी मौके पर पहुंचे और घर के लोगों को बचाने लगे. 

पड़ोस में रहने वाले जगदीश और सुरेश ने बताया कि रात में एक बजे की करीब वो खेत में पानी लगा रहे थे. अचानक सुरेश और प्रभु के घर से चीखे सुनाई दी. मदद के लिए वो पहुंचे, जैसे ही उन्होंने लोगों को बचाने की कोशिश की तो पहले उन्हें करंट लगा. उन्होंने पहले मीटर से तारे काटी और फिर लोगों का बचाया. 

बताया जा रहा है कि हादसे में मरने वालों में सुरेश की पत्नी सुमन, उसकी बेटी ईशा और बेटी रजनी है. वहीं, सुरेश और प्रभू के साथ दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए, जिनका इलाज चल रहा है. वहीं, घटना की जानकारी के बाद पुलिस मौके पर और मामले की जांच शुरू की. बरवाला के एसडीएम पृथ्वी सिंह, फतेहाबाद के एसपी दीपक सहारण और उकलाना के एसएचओ कृष्ण लाल ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाएं हैं. फतेहाबाद के एसपी दीपक ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी, उसके बाद कार्रवाई अमल में लाई जाएगी. 

गांव के लोगों का कहना है कि पीड़ित परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं है. दोनों परिवारों की 8 बेटियां है. इसलिए हरियाणा सरकार को उनकी आर्थिक मदद करनी चाहिए.