फांसी की खबरों से परेशान निर्भया कांड के दोषी, 24 घंटे रखी जा रही निगरानी, कराई जा रही मेडिकल जांच

इन चारों पर कई सीसीटीवी और स्टाफ के जरिये 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है.

फांसी की खबरों से परेशान निर्भया कांड के दोषी, 24 घंटे रखी जा रही निगरानी, कराई जा रही मेडिकल जांच

नई दिल्ली: निर्भया कांड (Nirbhaya Rape Case) के दोषियों पर ति़हाड़ जेल (Tihar Jail) में चौबिसों घंटे निगरानी रखी जा रही है. सूत्रों का कहना है कि चारों काफी परेशान हैं. तिहाड़ जले के सूत्रों के मुताबिक पिछ्ले 6 महीने से निर्भया केस के सभी 4 दोषियों से कोई काम नहीं करवाया जा रहा है. दोषी मीडिया में लगातार चल रही फांसी की खबरों से काफी परेशान हैं. इन चारों पर कई सीसीटीवी और स्टाफ के जरिये 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है. वक्त-वक्त पर उनका मेडिकल परीक्षण भी किया जा रहा है.

उधर, खबर है कि मेरठ के पवन जल्लाद को दिल्ली की तिहाड़ जेल में बुलाया गया है. जानकारी के मुताबिक तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने यूपी जेल विभाग के अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर जल्लाद को दिल्ली भेजने का आग्रह किया है. अब कयास यह लगाए जा रहे हैं कि निर्भया कांड के दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए ही पवन को तिहाड़ बुलाया गया है.   

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में सिर्फ दो जल्लाद हैं. जिनमें से लखनऊ के इलियास जल्लाद की तबियत खराब चल रही है ऐसे में बचा सिर्फ पवन. इसलिए पवन को तिहाड़ जेल बुलाया गया है. उधर, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी कारागार के महानिदेशक आनंद कुमार ने तिहाड़ का पत्र मिलने की पुष्टि भी कर दी है.

बुधवार (11 दिसंबर) को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा जिले (Khandwa District) के एक रिटायर्ड फौजी ने भी निर्भया कांड (Nirbhaya Rape Case) के दोषियों को फांसी देने के लिए जल्लाद बनने की पेशकश की थी. इसके लिए रिटायर्ड फौजी ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को चिट्ठी भी लिखी है.

ये भी देखें