दिल्ली को जाम से निजात दिलाने के लिए सरकार शुरू करेगी 50,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट

नितिन गडकरी ने घोषणा की कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस मार्ग मार्च तक बन कर तैयार हो जाएगा. अप्रैल से इस सड़क से लोग 40 मिनट में दिल्ली से मेरठ पहुंच जाएंगे. अभी यह दूरी 3.5 घंटे लेती है.

दिल्ली को जाम से निजात दिलाने के लिए सरकार शुरू करेगी 50,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि द्वारका एक्सप्रेसवे की आधारशिला अगले सप्ताह रखी जाएगी. इसके लिए प्रधानमंत्री से समय मांगा गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: वायु और जल प्रदूषण से जूझ रहे दिल्ली महानगर में भीड़-भाड़ की समस्या दूर करने के लिए सरकार 50 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं शुरू करेगी. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को यह जानकारी दी. 

नितिन गडकरी राजधानी में एक सड़क मार्ग परियोजना के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे. अनुमानित 2,820 करोड़ रुपये की इस परियोजना के पूरा होने से अक्षरधाम से बागपत मार्ग होते हुए पूर्वी बाहरी एक्सप्रेस मार्ग (ईपीई) और उससे आगे सहारनपुर तक पहुंचना सुगम हो जाएगा. 

'द्वारका एक्सप्रेस की आधारशिला अगले सप्ताह रखी जाएगी'
गडकरी ने कहा, 'दिल्ली में वायु और जल प्रदूषण की समस्या है. जगह-जगह जाम लग जाता है. हमने दिल्ली को भीड़-भाड़ से निजात दिलाने के लिये 50,000 करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं का निर्माण करने का फैसला किया है.'  उन्होंने बताया कि द्वारका एक्सप्रेसवे की आधारशिला अगले सप्ताह रखी जाएगी. इसके लिए प्रधानमंत्री से समय मांगा गया है.

उन्होंने घोषणा की कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस मार्ग मार्च तक बन कर तैयार हो जाएगा. अप्रैल से इस सड़क से लोग 40 मिनट में दिल्ली से मेरठ पहुंच जाएंगे. अभी यह दूरी 3.5 घंटे लेती है.

गडकरी ने किया कई अन्य परियोजनाओं का जिक्र
उन्होंने दिल्ली के लिए बनाई गई अन्य कई परियोजनाओं का जिक्र किया. इसमें नगर विस्तार मार्ग (यूईआर) नाम से नये मुद्रिकामार्ग का निर्माण भी शामिल है. इस पर 4000 करोड़ रुपये खर्च होंगे. उन्होंने कहा कि पूर्वी बाहरी राजमार्ग के चालू होने पर राजधानी में वायु प्रदूषण बहुत कम हो जाएगा.

गड़करी ने शनिवार को जिस छह लेन वाली सड़क परियोजना की आधारशिला रखी उसके तहत 31.3 किलोमीटर लम्बा रास्ता बनेगा जिस पर कोई लाल बत्ती नहीं मिलेगी. यह अक्षरधाम-गीता कॉलोनी-शास्त्रीपार्क-खजुरीखास-दिल्ली उत्तर प्रदेश सीमा- मंडोला और बागपत मार्ग के पूर्वी बाहरी मार्ग के संपर्क स्थल को जोड़ेगा.  इस अवसर पर सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री मुकेश मंडाविया और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह भी उपस्थित थे. 

(इनपुट - भाषा)