बेसहारा परिवार की आर्थिक मदद कर दिल्ली पुलिस ने कायम की इंसानियत की मिसाल

पिछले साल कावड़ के दौरान एक बेकाबू ट्रक, कावड़ शिविर में घुस गई थी. उसकी चपेट में आने से एक सिक्योरिटी गार्ड अवधेश कुमार मिश्रा की मौत हो गई थी.

बेसहारा परिवार की आर्थिक मदद कर दिल्ली पुलिस ने कायम की इंसानियत की मिसाल
एसीपी सुबोध गोस्वामी ने अपने ऑफिस बुला कर परिवार को 25 हजार की FD सौंपी.

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में पुलिस का एक नया रूप सामने आया है. यूं तो अक्सर ही लोग पुलिस के बारे में ऐसा ही सोचते हैं कि या तो यह परेशान करेंगे या फिर काम करने के लिए रिश्वत लेंगे लेकिन यहां पुलिस ऐसा कुछ नहीं बल्कि अपनी सैलरी को इक्ट्ठा कर गरीब और बेसहारा परिवार की मदद करते हुए नजर आई. 

दरअसल, दिल्ली पुलिस के एक एसीपी ओर उनके तीन साथी ने ना केवल एक परिवार के सर पर अपना हाथ रखा बल्कि अपनी सैलरी एक 25 हजार निकाल कर एक बेसहारा परिवार को एफडी कर आर्थिक मदद की. दिल्ली के नंद नगरी थाने के ऐसीपी सुबोध गोस्वामी ओर उनकी टीम के तीन पुलिस कर्मी अखिल, दीपक ओर संजीव ने कहीं न कहीं ना केवल पुलिस की छवि बदलने की कोशिश की बल्कि मानवता का भी परिचय दिया.

गौरतलब है कि पिछले साल कावड़ के दौरान एक बेकाबू ट्रक, कावड़ शिविर में घुस गई थी. उसकी चपेट में आने से एक सिक्योरिटी गार्ड अवधेश कुमार मिश्रा की मौत हो गई. अवधेश अपने पीछे तीन बच्चों को छोड़ गए. वह परिवार में कमाने वाले अकेले शक्स थे. उनकी मौत के बाद बच्चों की पढ़ाई छूटने लगी थी. इस मुश्किल घड़ी में एसीपी सुबोध गोस्वामी ओर उनके तीन साथी सामने आए और बच्चों से कहा मैं हु ना और इस परिवार को सहारा दिया. 

उन्होंने बच्चों से कहा, सिर्फ आप लोग पढ़ाई पर धयान दो और अपनी तनख्वाह से पैसे इकट्ठा कर 25 हजार की एफडी कर अवधेश की पत्नी को दिया. साथ ही विधवा पेंशन की सारी ऑपचारिक्ता पूरी की ओर घर मे काम की व्वस्था की ताकि परिवार आर्थिक तंगी से बाहर निकले. एसीपी सुबोध गोस्वामी ने अपने ऑफिस बुला कर परिवार को 25 हजार की fd सौंपी. एसीपी साहब की इस दरियादिली से पूरा दिल्ली पुलिस काफी खुश है.