ठगी के आरोप में हरियाणवी सिंगर शिखा राघव गिरफ़्तार, 60 लाख रुपए की ठगी का आरोप

उत्तरी जिला पुलिस शिखा से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है, दो साल पुराने मामले में दिल्ली की एक अदालत ने शिखा को भगोड़ा घोषित किया हुआ था. 

ठगी के आरोप में हरियाणवी सिंगर शिखा राघव गिरफ़्तार, 60 लाख रुपए की ठगी का आरोप

नई दिल्ली: उत्तरी जिला पुलिस ने नोटबंदी के दौरान एक महिला के पुराने नोट बदलवाने का झांसा देकर 60 लाख रुपये ठगी करने के आरोप में हरियाणवी सिंगर व अदाकारा शिखा राघव (27) को गिरफ्तार किया है. गुरुवार को शूटिंग के दौरान शिखा को हरियाणा के बहादुरगढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया. दो साल पुराने मामले में दिल्ली की एक अदालत ने शिखा को भगोड़ा घोषित किया हुआ था. उत्तरी जिला पुलिस शिखा से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है. इस मामले में पुलिस शिखा के साथी पवन को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी. शिखा लगातार पुलिस को चकमा दे रही थी.
 
पुलिस के मुताबिक राणा प्रतापबाग निवासी संतोष भारद्वाज नामक महिला ने करीब दो साल पूर्व रूप नगर थाने में 60 लाख रुपये ठगी की शिकायत दी थी. पीड़िता ने बताया था कि वह सुभाष प्लेस रामलीला में सलाहकार थी. रामलीला मंचन के दौरान उनकी मुलाकात हरियाणवी सिंगर व कलाकार शिखा राघव व दूसरे कलाकर पवन से हुई थी. दोनों रामलीला में राम-सीता का रोल रहे थे. संतोष के पास नोटबंदी के दौरान करीब 60 लाख रुपये 500 व 1000 के नोट पड़े थे. बातचीत के दौरान दोनों ने थोड़े रुपयों के बदले संतोष को नोट बदलवाने का झांसा दिया. संतोष उनके झांसे में आ गई. 

इधर, दोनों ने संतोष से रुपये लिए और डकार गए. ठगी का एहसास होने पर संतोष ने मामले की सूचना पुलिस से की. छानबीन के बाद पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज कर पवन को गिरफ्तार कर लिया था. जबकि सिंगर शिखा राघव फरार हो गई थी. पिछले दिनों कोर्ट ने शिखा को भगोड़ा भी करार दे दिया था. गुरुवार को उत्तरी जिला पुलिस ने शिखा को शूटिंग के दौरान बहादुरगढ़ हरियाणा से दबोच लिया. पुलिस दिल्ली लाकर शिखा से पूछताछ कर रही है. जांच के बाद तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी.