DNA ANALYSIS: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ZEE NEWS से की खास बातचीत

लद्दाख में LAC पर जारी भारत-चीन सीमा विवाद (India-China Border Dispute) पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने Zee News के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि वे भारत का सिर किसी भी हाल में झुकने नहीं देंगे.

DNA ANALYSIS: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ZEE NEWS से की खास बातचीत

नई दिल्ली : लद्दाख में LAC पर जारी भारत-चीन सीमा विवाद (India-China Border Dispute) पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने Zee News के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि वे भारत का सिर किसी भी हाल में झुकने नहीं देंगे. राजनाथ सिंह ने सबसे पॉपुलर प्राइम टाइम शो DNA में Zee News के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी से खुलकर बात की.

 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत और चीन के बीच में पहले भी ऐसी घटनाएं होती रही हैं. इस समय भी दोनों तरफ फोर्स हैं लेकिन भारत और चीन के बीच मिलिट्री लेवल पर बातचीत जारी है. उन्होंने कहा कि हम भारत का मस्तक किसी भी हालत में झुकने नहीं देंगे. पीएम मोदी के नेतृत्व में हम इस मसले को सुलझा लेंगे. 

उन्होंने कहा कि हम न तो किसी देश को झुकाना चाहते हैं और न ही अपने देश को झुकने देंगे. चीन और भारत के बीच जारी गतिरोध को हम सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. रक्षा मंत्री ने कहा कि मैं देशवासियों को ये विश्वास दिलाना चाहता हूं कि हम भारत का मस्तक कभी झुकने नहीं देंगे. 

नेपाल के नक्शा विवाद पर राजनाथ सिंह ने कहा कि नेपाल के साथ भारत के भावनात्मक रिश्ते रहे हैं. हम कभी नहीं चाहेंगे कि इन रिश्तों में खटास आए. हम इस मसले को बातचीत से हल करेंगे. नेपाल भारत का भाई है. ये पूछे जाने पर कि क्या नेपाल को चीन उकसा रहा है इसपर उन्होंने कहा कि मैं यहां किसी पर आरोप नहीं लगा रहा. लेकिन ऐसा हो सकता है. चीन भारत का भाई है और हम उसके साथ बातचीत से विवाद को हल कर लेंगे.  

मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरा होने पर रक्षा मंत्री ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री ने जो भी जिम्मेदारी दी है मैं उसे कड़ी मेहनत के साथ पूरी कर रहा हूं. आत्मनिर्भर भारत के बारे में रक्षा मंत्री ने कहा कि पीएम भारत को आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं. पीएम का सपना है कि भारत अन्य देशों से सामान इंपोर्ट न करे बल्कि एक्सपोर्ट करे. उन्होंने कहा कि भारत आत्मनिर्भरता की राह पर चल पड़ा है. इसे कुछ समय लग सकता है लेकिन ये होकर रहेगा. 

कोरोना वायरस के बाद लोगों की जिंदगियां पूरी तरह से बदल जाएंगी अब पहले जैसा कुछ भी नहीं रह जाएगा. क्या राजनीति पर भी इसका असर पड़ेंगे ये पूछे जाने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि अब वर्चुअल रैलियां होंगी. मैं 8 जून मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरा होने पर महाराष्ट्र में एक वर्चुअल रैली करूंगा. आने वाले समय में वर्चुअल रैलियां ही होंगी. 

पीओके पर रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत की संसद ने पीओके को भारत का हिस्सा बताया है. संसद का ये संकल्प है कि हम पीओके को लेकर रहेंगे और हमें इसे पूरा करना है. क्या भारत 2024 से पहले पीओके को पाकिस्तान से लेकर रहेगा इस सवाल पर रक्षा मंत्री ने कहा कि ये हमारी संसद का संकल्प है. हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर कुछ कहने से इनकार कर दिया लेकिन इशारों में कहा कि हम पीओके को पाकिस्तान से वापस लेकर ही रहेंगे.

रफाल विमान की पूजा करने पर रक्षामंत्री ने कहा कि हर किसी की अपनी धार्मिक आस्था होती है. अपनी आस्था के मुताबिक मैंने रफाल की पूजा की. मैंने उसमें उड़ान भी भरी. यह एक अलग ही रोमांच हो. 

राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं कभी नहीं चाहूंगा कि देश में वन पार्टी रूल रहे. उन्होंने कहा कि अलग-अलग पार्टियों का अलग महत्व है. हेल्दी डेमोक्रेसी होना बहुत ही जरूरी है. लेकिन पीएम मोदी के कार्यकाल में भारत विश्व शक्ति बनकर रहेगा. कोरोना काल हमारे लिए एक बड़ी चुनौती लेकर आया है. लेकिन पीएम मोदी ने इस चुनौती को अवसर के रूप में देखा है.

कोरोना ने निजी जीवन पर क्या असर किया है इस सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि काफी कुछ बदल गया है. हम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं लेकिन मंत्रालय के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ा है. कोरोना का ही असर है कि मैं स्टूडियो में नहीं बल्कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से इंटरव्यू दे रहा हूं.