महाराष्ट्र: मार्च 2020 से लागू हो जाएगी महात्मा ज्योतिबा फुले ऋण माफी योजना

किसानों का 30 सितंबर 2019 तक का बकाया फसल ऋण माफ किया गया है, जिसकी अधिकतम सीमा 2 लाख रुपये होगी.

महाराष्ट्र: मार्च 2020 से लागू हो जाएगी महात्मा ज्योतिबा फुले ऋण माफी योजना
विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़णवीस ने किसानों के लिए 100 फीसदी कर्ज माफी की मांग की. (फाइल फोटो)

नागपुर (महाराष्ट्र): महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने शनिवार को एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करने का ऐलान किया. किसानों का 30 सितंबर 2019 तक का बकाया फसल ऋण माफ किया गया है, जिसकी अधिकतम सीमा दो लाख रुपये होगी. ठाकरे ने मीडियाकर्मियों से कहा, "महात्मा ज्योतिबा फुले ऋण माफी योजना मार्च, 2020 से लागू हो जाएगी. ऋण माफी की ऊपरी सीमा दो लाख रुपये तक होगी."

ठाकरे सरकार द्वारा यह बहुप्रतीक्षित घोषणा महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन शनिवार को की गई. इस घोषणा का शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) गठबंधन द्वारा जोरदार स्वागत किया गया.

विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने हालांकि इसे किसानों के साथ धोखा करार दिया. विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़णवीस ने किसानों के लिए 100 फीसदी कर्ज माफी की मांग की.

वसंतराव नाइक शेट्टी स्वावलंबन मिशन (वीएनएसएसएम) के अध्यक्ष किशोर तिवारी ने इसे राज्य के गरीब किसानों के लिए दूरगामी प्रभाव वाला एक साहसिक निर्णय बताया.

तिवारी ने आईएएनएस से कहा, "इसका फायदा किसानों को सीधे पारदर्शी तरीके से मिलेगा और गरीब किसानों, विशेष रूप से आत्महत्या वाले क्षेत्रों में किसानों के 90 फीसदी कर्ज माफ हो जाएंगे. बाकी किसान संपन्न हैं, जिन्होंने बड़े ऋण लिए हुए हैं और वे चुकाने की क्षमता भी रखते हैं."