Farmers Protest: केंद्र और किसानों की बैठक खत्म, कृषि मंत्री बोले- MSP पर चर्चा और शंका बेबुनियाद

किसान आंदोलन (Farmers Protest) के दसवें दिन सरकार और किसानों के बीच 5वें राउंड की मीटिंग खत्म हो चुकी है. सरकार की तरफ से 9 दिसंबर को अगले राउंड की बैठक तय की गई है हालांकि किसानों का कहना है कि आगे की बैठक में आना है या नहीं इस पर अभी निर्णय लेंगे.

Farmers Protest: केंद्र और किसानों की बैठक खत्म, कृषि मंत्री बोले- MSP पर चर्चा और शंका बेबुनियाद
सरकार और किसानों की बैठक खत्म.

नई दिल्ली: किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच पांचवें दौर की बातचीत (Farmers Government fifth Meeting) खत्म हो गई है. बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 9 दिसंबर को फिर से किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच वार्ता का दौर चलेगा. किसान अगली बैठक मीटिंग में न जाने के मूड में हैं. किसान नेता चर्चा से पहले अब लिखित में जवाब चाहते हैं. वहीं कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कहा है कि मोदी सरकार (Modi Government) किसानों के हित के लिए प्रतिबद्ध है. MSP पर किसी को शंका नहीं होनी चाहिए.

'MSP पर चर्चा और शंका करना बेबुनियाद '
किसान संगठनों के साथ बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कहा, MSP पर चर्चा और शंका करना बेबुनियाद है और APMC राज्य सरकार का मामला है. फिर भी किसी के मन में कोई शंका है तो सरकार चर्चा के लिये तैयार है. एपीएमसी और मजबूत हो इसके लिए सरकार को जो करना है वो कर रही है. उन्होंने कहा कि हम चाहते थे कुछ विषयों पर सुझाव हमें मिल जायें मगर बातचीत के दौर में ऐसा नहीं हो सका. हमने किसानों से कहा है कि सरकार किसानों के हित में काम करेगी. मोदी सरकार किसानों के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

कृषि मंत्री की अपील
सर्दी और कोरोना (Coronavirus) को देखते हुए कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने बैठक के दौरान किसानों से अपील की, 'किसान आंदोलन (Farmers Protest) में शामिल वरिष्ठ नागरिक और बच्चे धरना स्थल से घर चले जाएं. हम एक और दौर की बैठक के लिए कल भी मिल सकते हैं.'

 

अगली मीटिंग को लेकर किसान अभी लेंगे फैसला
उधर कृषि सुधार बिलों (Farm Laws) के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर हुई बैठक के बाद किसानों ने कहा है कि सरकार का जो फैसला हो वह लिखकर भेज दे, इसके बाद किसान अगली मीटिंग के बारे में फैसला करेंगे कि अगली बैठक में आना है या नहीं. कल फिर एक बार ऑल इंडिया किसान नेताओं की बैठक होगी. कल शाम तक किसान तय करके जवाब देंगे कि 9 दिसंबर को जाना है या नहीं. वहीं कुछ किसानों ने यह भी कहा कि अगली मीटिंग में नही आएंगे. अब चर्चा नहीं जवाब चाहिए. किसान नेताओं का कहना है कि 7 या 9 तारीख, ये दो तारीखें बैठक के लिए केंद्र ने दीं थीं अब किसान तय करेंगे कि चर्चा करनी है या जवाब लेना है.

यह भी पढ़ें: Farmers Protest: किसानों का बड़ा ऐलान- 8 तारीख को भारत बंद, नहीं हटेंगे पीछे

मांग मनवाने पर अड़े किसान
कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. किसान लगातार तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं. किसान कानूनों पर सरकार के साथ हुई बैठक के बाद किसान नेता ने कहा, 'सरकार ने तीन दिन का समय मांगा है. 9 दिसंबर को सरकार हमें प्रपोजल भेजेगी, उस पर विचार करने के बाद बैठक होगी. 8 तारीख को भारत बंद (Bharat Bandh) जरूर होगा. ये कानून जरूर रद्द होंग.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.