राज्यसभा में नागरिकता विधेयक पारित न होना असम के लिए हार: हिमंत विश्व सरमा

सरमा ने कहा कि एनडीए के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है इसलिए वह विधेयक पेश नहीं कर सका. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को बहुमत मिलते ही इस विधेयक को फिर से लाया जाएगा.

राज्यसभा में नागरिकता विधेयक पारित न होना असम के लिए हार: हिमंत विश्व सरमा
असम के वित्त मंत्री नेता हिमंत विश्व सरमा (फाइल फोटो)

दुधनोई (असम): असम के वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता हिमंत विश्व सरमा ने बुधवार को कहा कि राज्यसभा में नागरिकता विधेयक का पारित न होना असम के लिए हार है और दावा किया कि इसके बिना राज्य की 17 विधानसभा सीटों पर बांग्लादेशी मुसलमानों का कब्जा हो जाएगा. पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन के संयोजक सरमा ने कहा कि पार्टी विधेयक को लेकर पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और इसी संकल्प के साथ पार्टी चुनाव लड़ेगी.

लोकसभा चुनाव से पहले संसद के अंतिम सत्र यानी बजट सत्र के अंतिम दिन राज्यसभा के अनिश्चितकाल के लिए स्थगित होने के साथ ही लोकसभा से पारित यह विधेयक निरर्थक हो गया. लोकसभा में इसे आठ जनवरी को पारित किया गया था.

उन्होंने कहा, 'मेरा मानना है कि राज्यसभा में नागरिकता विधेयक का पारित न होना असम के लिए हार है. विधेयक के बिना राज्य की 17 विधानसभा सीटों पर बांग्लादेशी मुसलमानों का कब्जा हो जाएगा.' सरमा ने कहा, '(असमिया) समुदाय की रक्षा कौन करेगा.'  

'एनडीए के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है' 
उन्होंने कहा कि एनडीए के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है इसलिए वह विधेयक पेश नहीं कर सका. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को बहुमत मिलते ही इस विधेयक को फिर से लाया जाएगा.

सरमा ने कहा, 'मेरी पार्टी विधेयक का समर्थन करती है. बीजेपी इसके लिए प्रतिबद्ध है और सदैव प्रतिबद्ध रहेगी. बीजेपी इसी प्रतिबद्धता के साथ (चुनाव) लड़ेगी.' 

(इनपुट - भाषा)