close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उद्धव ठाकरे ने PM मोदी को दी चुनौती, 'है हिम्मत तो राम मंदिर बनवाएं'

उद्धव यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी की सरकार मजबूत थी. आपातकाल लगाया यह उनकी गलती थी, लेकिन पाकिस्तान के दो टुकड़े किए. यह होती है मजबूती. इंदिरा ने पाकिस्तान के टुकड़े किए.

उद्धव ठाकरे ने PM मोदी को दी चुनौती, 'है हिम्मत तो राम मंदिर बनवाएं'
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है.

मुंबई: केंद्र और महाराष्ट्र सरकार में सरकार की सहयोगी शिवसेना के तल्ख तेवर बरकरार हैं. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने इस बार बार सीधे-सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा कुछ लोग सिर्फ अपनी बातें करते है, हम जनता की बात करते हैं. मेरे देश का क्या होगा यह मेरी प्राथमिकता है. मेरा देश कैसे सुधरेगा, देश का आर्थिक सुधार कैसे होगा इसके बारे में सोच रहे हैं. सरकारी योजना का हमने पर्दाफाश किया है. भाजपा कहती है की हमें मजबूत सरकार चाहिए. सरकार मजबूर होगी तो भी चलेगा, लेकिन मेरा देश मजबूत होना चाहिए. 

उद्धव यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी की सरकार मजबूत थी. आपातकाल लगाया यह उनकी गलती थी, लेकिन पाकिस्तान के दो टुकड़े किए. यह होती है मजबूती. इंदिरा ने पाकिस्तान के टुकड़े किए. अटल बिहारी वाजपेयी ने मिली जुली सरकार में पाकिस्तान को कारगिल में हराया. इसे कहते हैं जीगर दिखाना.

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि हनुमान की जात पूछी जाती है, हम इतने ओछे हैं क्या. दूसरे किसी धर्म में देवता के बारे में कहा जाता तो कहने वाले के दांत तोड़ दिए जाते. चुनाव आते ही ये बार-बार कहने लगते हैं, मंदिर वहीं बनाएंगे. मंदिर दिखने वाला नहीं है. अगर पीएम मोदी विष्णु के अवतार हैं तो राम मंदिर क्यों नहीं बनाते. अगर ये राम मंदिर नहीं बना सकते तो विष्णू अब इनका अवतार हैं ऐसा कहा जाने लगेगा.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि कहते हैं कि कांग्रेस राम मंदिर में अड़ंगा लगाती है. राम मंदिर का नारा लगाकर सत्ता में आए, अड़ंगा लगाने वाले कांग्रेस को जनता ने हरा चुकी है. अब आपकी पूरी सत्ता है, क्यों अब तक मंदिर बनवाया. हमारा गठबंधन हिंदूत्व के मुद्दे पर हुआ था, लेकिन अभी बीजेपी के नेताओं में राम मंदिर को लेकर एकरूपता वाले विचार नहीं हैं.