Monsoon Update: आसमान से बरसेगी राहत, नहीं सताएगी चमड़ी जला देने वाली गर्मी, मॉनसून को लेकर आ गई गुड न्यूज
Advertisement
trendingNow12303943

Monsoon Update: आसमान से बरसेगी राहत, नहीं सताएगी चमड़ी जला देने वाली गर्मी, मॉनसून को लेकर आ गई गुड न्यूज

IMD Monsoon Prediction: उत्तर भारत में तेज गर्मी का सामना कर रहे लोगों को अब मॉनसून के आने का बेसब्री से इंतजार है. अब उनका यह इंतजार खत्म होने जा रहा है. मौसम विभाग ने उत्तर भारत में मॉनसून के सक्रिय होने की तारीख बता दी है.

 

Monsoon Update: आसमान से बरसेगी राहत, नहीं सताएगी चमड़ी जला देने वाली गर्मी, मॉनसून को लेकर आ गई गुड न्यूज

IMD Weather Prediction: देश में इस बार पड़ रही तेज गर्मी ने लोगों के पसीने छुड़ा रखे हैं. कई वर्षों के बाद ऐसा हो रहा है कि बिना बारिश और आंधी के लोगों को लगातार सूखी गर्मी सहनी पड़ रही है. मई के पहले सप्ताह से यह दौर शुरू हुआ था, जो अब तक जारी है. अब राहत के लिए सबकी निगाहें मॉनसून की ओर लगी हुई हैं. इसी बीच भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने राहत भरी खबर दी है. IMD के मुताबिक मॉनसून तेजी से उत्तर पश्चिम भारत की ओर बढ़ रहा है. वह 27 जून से 3 जुलाई के बीच इस क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों को कवर कर सकता है. 

आने वाला सप्ताह मॉनसून के लिहाज से खास

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इस बार भी देश के अधिकतर हिस्सों में मॉनसून के सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है. यानी कि अधिकांश क्षेत्रों में सामान्य से ज्यादा बारिश हो सकती है. हालांकि पश्चिम राजस्थान और पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में यह सामान्य से नीचे रह सकता है. वैज्ञानिकों ने 27 जून से 3 जुलाई वाला सप्ताह मॉनसून के लिहाज से बेहद खास रहेगा. इस दौरान दक्षिण-पश्चिम मॉनसून मध्य भारत के शेष हिस्सों में तेजी से आगे बढ़ेगा. इसके साथ ही उत्तर-पश्चिम भारत के बचे हुए भागों में बारिश की गतिविधियां जोर पकड़नी शुरू हो जाएंगी. 

जोर पकड़ सकती है बरसात की गतिविधियां

IMD के अनुसार, पिछले 9 दिनों में मॉनसून विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और बिहार के कुछ हिस्सों में मामूली रूप से आगे बढ़ा है. इससे पहले यह गुजरात नवसारी, जलगांव, मंडला, पेंड्रा रोड, झारसुगुड़ा, बालासोर, हल्दिया, पाकुड़, साहिबगंज और रक्सौल तक ही सीमित रहा. लेकिन अब गुजरात, महाराष्ट्र के शेष हिस्सों, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं. अगले 3-4 दिनों के दौरान इन इलाकों में बरसात की गतिविधियां जोर पकड़ सकती हैं. 

वैज्ञानिकों ने अनुमान जताया कि उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, बिहार और पश्चिम बंगाल के कई हिस्से इस महीने की शुरुआत से ही तेज गर्मी की चपेट में हैं. ऐसे में मॉनसून के सक्रिय होने से लोगों को राहत मिलने की संभावना है. उन्होंने बताया कि दिल्ली में मानसून पहुंचने की सामान्य तारीख 27 जून है. हालांकि इसमें 7 दिनों का अंतर भी हो जाता है. 

इन इलाकों में हो सकती है बरसात

मौसम विभाग के अुसार बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवात उभर रहा है. इसके प्रभाव की वजह से गुजरात, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा, कर्नाटक, केरल, माहे, लक्षद्वीप में गरज और बिजली के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है. अगले पांच दिनों के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, रायलसीमा, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी हल्की से मध्यम स्तर की बरसात होगी.

गर्मी से राहत के लिए अब मॉनसून का सहारा

बताते चलें कि देश के कई हिस्सों में इन दिनों लू की स्थिति बनी हुई है. शुक्रवार को पश्चिमी राजस्थान, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 40-42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा. गुरुवार को आई- आंधी बारिश की वजह से इन राज्यों के तापमान में 3-4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई. शुक्रवार को देश में सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान 44.6 डिग्री सेल्सियस यूपी के उरई में दर्ज किया गया. लोगों को अब बेसब्री से मॉनसून आने का इंतजार है.

Trending news