कोरोना वैक्सीन पर गुमराह करने वालों पर अनुराग ठाकुर का निशाना, बताया कैसे मिली 100 करोड़ वाली कामयाबी
X

कोरोना वैक्सीन पर गुमराह करने वालों पर अनुराग ठाकुर का निशाना, बताया कैसे मिली 100 करोड़ वाली कामयाबी

India gives its billionth Covid vaccine jab: भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा सौ करोड़ के पार होने के बाद जहां जश्न का माहौल है. वहीं डब्ल्यूएओ समेत कई संस्थानों ने भारत को बधाई दी है.

 कोरोना वैक्सीन पर गुमराह करने वालों पर अनुराग ठाकुर का निशाना, बताया कैसे मिली 100 करोड़ वाली कामयाबी

नई दिल्ली: केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने वैक्सीन पर राजनीति करने वाले नेताओं पर निशाना साधा है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जो लोग जनता को गुमराह कर रहे थे कोरोना वैक्सीन को लेकर आज उनको जवाब मिल गया है. अनुराग ठाकुर ने कहा कि विपक्ष ने जनता को गुमराह करने की खूब कोशिश की लेकिन जनता उनकी बातों में नहीं आई.

एक्सक्लूसिव बातचीत

ज़ी न्यूज से खास बातचीत में अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह देश देश ही नहीं दुनिया के सामने यह बड़ी चुनौती थी लेकिन भारत ने आज एक चुनौती को पार किया है. हमारे वैज्ञानिकों की बनाई वैक्सीन न सिर्फ भारत के करोड़ों लोगों का सुरक्षा कवच बनीं वहीं दुनिया ने मानवता की रक्षा के लिए दुनिया के कई देशों तक वैक्सीन पहुंचाई.

पुख्ता योजना से टीकाकरण 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, 'वैक्सीन निर्माण के बाद उसे लोगों तक पहुंचाना भी बड़ी चुनौती थी. जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर भारत के कई दुर्गम इलाकों में हमारे स्वास्थ्य कर्मियों ने पहाड़ों से गुजरने के साथ नदियों को पार किया. इतने संघर्ष के बाद मेडिकल स्टाफ दुर्गम इलाकों तक पहुंचा और वहां के लोगों को सुरक्षित किया. 

विपक्ष पर निशाना

अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर शुरुआत से ही विपक्ष के कुछ नेता जनता में भ्रम और भय फैला रहे थे. उस समय भी प्रधानमंत्री मोदी ने 'मन की बात' में समेत कई कार्यक्रमों के माध्यम से जनता को जागरूक किया और लोगों के छलावे में आने से बचने को कहा था. हमारे कोविड-19 लगातार आगे बढ़ कर जनता को जागरूक करने समझाने और वैक्सीन लगाने का भी काम किया.

केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा, 'लॉकडाउन के दौरान जनता ने घर में बैठकर भी डॉक्टर्स, मेडिकल स्टाफ, टेक्नीशियंस समेत हर कोरोना वारियर्स का मनोबल बढ़ाया. उस समय जो नेता तंज कस रहे थे वो उस समय ये दिखा रहे थे कि आखिर उनकी मानसिकता क्या है. ऐसे नेताओं ने महामारी के दौरान भी राजनीति करने में संकोच नहीं किया. लेकिन देश उनकी राजनीतिक बातों में नहीं आया. जनता ऐसे नेताओं की गुमराह करने वाली बातों पर नहीं गई. देशवासियों ने बढ़ चढ़कर वैक्सीनेशन कराया. इस वजह से देश ने 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार कर लिया.' 

Trending news