सुरक्षा बलों के जवानों को फंसाने के लिए ISI ने बनाया यह खतरनाक प्लान, NIA करेगा जांच

सूत्रों के मुताबिक ISI के एक अधिकारी के जरिए इस पूरी साजिश को अंजाम दिया जा रहा है.

सुरक्षा बलों के जवानों को फंसाने के लिए ISI ने बनाया यह खतरनाक प्लान, NIA करेगा जांच
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI की एक नई साजिश का खुलासा हुआ है. गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक ISI ने सुरक्षा बलों (Security Forces) के जवानों को हनीट्रैप (Honeytrap) के जिरए फंसाने का प्लान तैयार किया है. 

सूत्रों के मुताबिक ISI के एक अधिकारी के जरिए इस पूरी साजिश को अंजाम दिया जा रहा है. बता दें आंध्र प्रदेश की काउंटर इंटेलीजेंस सेल ने हाल ही में हनीट्रैप के कई मामेले पकड़े थे.

वहीं पाकिस्तान से जुड़े एक जासूसी गिरोह को संवेदनशील जानकारी देने के मामले में हाल ही में नौसेना के सात कर्मियों की गिरफ्तारी के बाद भारतीय नौसेना ने जहाजों तथा नौसैन्य ठिकानों पर हर प्रकार के स्मार्टफोन्स तथा सोशल नेटवर्किं ग प्लेटफॉर्म्स के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की अधिसूचना जारी कर दी है.

भारतीय नौसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "जहाजों और नौसैन्य अड्डों पर अब फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप और अन्य मैसेंजर्स समेत सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को चलाने की अनुमति नहीं दी जाएगी." उन्होंने कहा कि इसके अलावा जहाजों और नौसैन्य अड्डों पर अब स्मार्टफोन पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.

खुफिया एजेंसियों ने 20 दिसंबर को पाकिस्तान से संबद्ध एक जासूसी रैकेट का भंडाफोड़ किया था और भारतीय नौसेना के सात अधिकारियों तथा एक हवाला संचालक को गिरफ्तार किया गया था.

मुंबई, करवार और विशाखापत्तनम में नौसेना के इन सात अधिकारियों द्वारा जंगी जहाजों और पनडुब्बियों की गतिविधियों के बारे में पाकिस्तान को जानकारी देने पर भारत की संवेदनशील संपत्तियों के सुरक्षा तंत्र में कमी दिखी थी.

पाकिस्तान द्वारा संचालित गिरोह का भंडाफोड़ करने वाली खुफिया एजेंसियों ने कहा, "विशाखापत्तनम से तीन, करवार से दो और मुंबई से दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया." एजेंसियों ने कहा, "कुछ और संदिग्धों से पूछताछ चल रही है."