close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

J&K: मूसा के बाद सुरक्षाबलों को है इस आतंकी की तलाश, लोकसभा चुनाव से दूर रहने की थी धमकी

घाटी में अंसार गज्वातुल हिंद के आतंकी जाकिर मूसा का खात्‍मा करने के बाद सुरक्षाबलों के पहले निशाने पर हिजबुल मुजाहिद्दीन का रीजनल कमांडर रियाज नायकू है. बीते कुछ सालों से घाटी में आतंकवाद फैला रहे रियाज नायकू पर सुरक्षाबलों ने 12 लाख रुपए का ईनाम घोषित किया हुआ है. 

J&K: मूसा के बाद सुरक्षाबलों को है इस आतंकी की तलाश, लोकसभा चुनाव से दूर रहने की थी धमकी
जम्‍मू और कश्‍मीर में आतंकियों की तलाश में सुरक्षाबल लगातार सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: लोकसभा चुनाव 2019 से दूर रहने की धमकी देकर जम्‍मू और कश्‍मीर में आतंक का माहौल बनाने वाले हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी रियाज नायकू की सुरक्षाबल सरगर्मी से तलाश कर रहे है. घाटी में अंसार गज्वातुल हिंद के आतंकी जाकिर मूसा का खात्‍मा करने के बाद सुरक्षाबलों के पहले निशाने पर हिजबुल मुजाहिद्दीन का रीजनल कमांडर रियाज नायकू है. बीते कुछ सालों से घाटी में आतंकवाद फैला रहे रियाज नायकू पर सुरक्षाबलों ने 12 लाख रुपए का ईनाम घोषित किया हुआ है. 

उल्‍लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव 2019 की प्रक्रिया शुरू होने के साथ आतंकी रियाज नायकू ने घाटी के लोगों को मतदान से दूर रहने की धमकी दी थी. रियाज ने यह भी धमकी दी थी कि जो भी लोकसभा चुनाव 2019 का हिस्‍सा बनेगा, भविष्‍य में उसे गंभीर खामियाजा भुगतना होगा. लोगों के भीतर दहशत भरने के लिए मतदान केंद्रो पर आतंकी जाकिर मूसा और रियाज नायकू के इशारे पर धमकी भरे संदेश लिखे गए. हालांकि यह बात दीगर है कि आतंकियों की धमकी को नजरअंदाज कर न केवल लोग चुनाव लड़ने के लिए आगे आए, बल्कि स्‍थानीय लोगों ने मतदान भी किया. 

यह भी पढ़ें: फारूक अब्दुल्ला बोले, 'जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370, 35A नहीं हटा सकते मोदी'

सुरक्षाबल से जुड़े सूत्रों के अनुसार, चुनाव बहिष्‍कार की धमकी के बाद से सुरक्षाबलों ने जाकिर मूसा और रियाज नायकू की तलाश शुरू कर दी थी. 26 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने पुलवामा के बेगीपेारा गांव में आतंकी रियाज नायकू की घेराबंदी भी कर ली, लेकिन पत्‍थरबाजों की ममद से वह वहां से भागने में सफल भी हो गया. वहीं 23 मई को एक तरफ देश में लोकसभा चुनावों के नतीजों का एलान हो रहा था, वहीं दूसरी तरफ कश्‍मीर में सुरक्षाबल जाकिर मूसा की तलाश में सर्च ऑपरेशन चला रहे थे. 

यह भी पढ़ें: जम्‍मू-कश्‍मीर: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में मार गिराए 2 आतंकी

इंटेलीजेंस इनपुट की मदद से सुरक्षाबल जाकिर मूसा का ठिकाना खोजने में सफल रहे. 23 मई की रात, सीआरपीएफ, राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और J&K पुलिस की एसओजी ने जाकिर मूसा को पुलवामा के त्राल में घेर लिया. सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चली लंबी मुठभेड़ के बाद आतंकी जाकिर मूसा को मार गिराया गया. जाकिर मूसा के खात्‍मे के बाद सुरक्षाबलों ने तेजी से रियाज नायकू सहित चार अन्‍य आतंकियों की तला शुरू कर दी है. इन आतंकियों में आदिल, हमाद, शियाजी और फारुख बिजरान का नाम शामिल हैं. ये सभी आतंकी हिजबुल मुजाहिद्दीन नामक आतंकी संगठन से जुड़े हुए हैं.