राम मंदिर भूमि पूजन के लिए काशी के 3 विद्वानों को मिला न्योता, जनिए इनके बारे में

काशी के 3 विद्वानों को राम मंदिर आधारशिला रखने के दौरान शामिल होने का न्योता भेजा गया है. जनिए इनके बारे में...

राम मंदिर भूमि पूजन के लिए काशी के 3 विद्वानों को मिला न्योता, जनिए इनके बारे में

लखनऊ: अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Mandir) की आधारशिला रखने के लिए काशी (Kashi) के तीन विद्वानों को न्योता भेजा गया है. राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय (Champat Rai) के नाम से भेजा गया निमंत्रण पत्र आज काशी विद्वत परिषद (Akhil Bhartiya Vidvat Parishad) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम चन्द्र पाण्डेय, परिषद के मंत्री व संयोजक रामनारायण द्विवेदी और बीएचयू के ज्योतिष विभाग के प्रोफेसर विनय पाण्डेय को मिला है.

बताया जा रहा है कि काशी विद्वत परिषद के तीनों विद्वान कल राम जन्म भूमि अयोध्या के लिए रवाना होंगे. पत्र में लिखा गया है कि अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 5 अगस्त 2020 को श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ किए जाने वाले ऐतिहासिक क्षण का आमंत्रण पत्र देते हुए अत्यंत एवं उत्साह का अनुभव कर रहे हैं. इसके साथ ही पत्र में 4 अगस्त की शाम तक कारसेवकपुरम, जानकीघाट, परिक्रमा मार्ग अयोध्या पधारने का निवेदन किया गया है.

ये भी पढ़ें:- काशी मथुरा विवाद पर शुरू हुई जंग, 29 साल पुराने कानून के खिलाफ SC पहुंचे BJP सांसद

बता दें कि काशी के 5 विद्वानों की ही निगरानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे. अयोध्या जा रहे इन पांच विद्वानों में 3 ज्योतिषी हैं. जिसमें काशी विद्वत परिषद के मंत्री रामनाराय द्विवेदी, काशी विद्वत परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रामनारायण पांडेय और बीएचयू ज्योतिष विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर विनय पांडेय शामिल हैं. वहीं दो संत भी काशी से अयोध्या जा रहे हैं, जो अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती और सतुआ बाबा आश्रम से महंत संतोष दास हैं. बताते चलें कि दोनों संतों के नाम का न्योता पहले ही आ गया है. रक्षाबंधन के मौके पर ये सभी विद्वान अयोध्या के लिए रवाना होंगे.

LIVE TV