जीरो फिगर से नहीं बल्कि प्लस साइज भी बना सकता है ग्लैमर की दुनिया में पहचानः लीना सिंह

लीना सिंह ने मिस इंडिया कर्वी शो में एक मुक़ाम हासिल कर लोगों को बताया कि प्लस साइज होने के बाद भी वो किसी से कम नहीं हैं. 

जीरो फिगर से नहीं बल्कि प्लस साइज भी बना सकता है ग्लैमर की दुनिया में पहचानः लीना सिंह

नई दिल्ली : भागती दौड़ती दुनिया में प्लस साइज़ से बचने के हर कोई जतन कर रहा है. खासकर महिलाओं में इन दिनों जीरो फिगर बनाने की होड़ सी मची हुई है. जीरो या स्लिम फिगर पाने के लिए महिलाएं सारे जतन करने को तैयार है. लड़कियों का मानना है कि जीरो फिगर के जरिए ही खुद को बुलंदी तक पहुंचाया जा सकता है, अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ये खबर पढ़ने के बाद आपको दोबारा सोचने पर मजबूर होना पड़ेगा. 

450 प्रतिभागियों ने लिया था हिस्सा
प्लस साइज वाली लीना सिंह ने कुछ ऐसा कर दिखाया जिसको सुनने के बाद आप भी हैरान रह जाएंगे. लीना सिंह ने मिस इंडिया कर्वी शो में एक मुक़ाम हासिल कर लोगों को बताया कि प्लस साइज होने के बाद भी वो किसी से कम नहीं हैं. दरअसल, मिस इंडिया कर्वी शो 2019 का आयोजन गुरुग्राम मे किया गया, जहां भारत की प्लस साइज़ शरीर वाली महिलाओं ने शिरकरत की. तक़रीबन 450 प्रतिभागियों में से 60 लोगों को फ़ाइनल के लिए चुना गया.

इन 60 लोगों में से लीना सिंह ने प्रीम एंड प्रापर का ख़िताब जीत कर लोगों को बताया कि प्लस साइज़ अभिश्राप नहीं. आप प्लस साइज़ होने के बावजूद अपने आपको ग्लैमर की दुनिया में बेहतर साबित करते है. लीना सिंह ने अपने प्लस साइज़ को कमजोरी नहीं मानते हुए, अपने हुनर के ज़रिए भारत की तमाम महिलाओं के लिये एक ऐसा प्लेटफ़ार्म दे दिया, जहां कर्वी महिलाएं और लड़कियां भी अपना सिर फ़र्क़ से ऊंचा कर सकती हैं. 

मनोबल को कमजोर ना होने दें: लीना सिंह
लीना सिंह ने बताया कि स्वस्थ्य (प्लस साइज़) होना कोई अभिश्राप नहीं है. अपने मनोबल को कमजोर किए बैगर और लोगों की बग़ैर चिंता किए बगैर अपने मुकाम को हासिल किया जा सकता है. उनका मानना है कि समाज में ऐसे लोगों के मिसाल बनना ज़रूरी है, जो  लोग प्लस साइज़ की वजह से लड़कियों और औरतों को ऐसी निगाह से देखते है, मानो मोटापा श्राप हो. लेकिन श्राप को अमृत कैसे बना सकते है ये जानना बेहद जरूरी है.