बाप-बेटी की जहर खाने से मौत, इस कारण पूरे परिवार ने लिया था सामूहिक आत्महत्या का फैसला

शाजापुर में पिता और बेटी द्वारा जहर खाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. घटना शाजापुर जिला मुख्यालय से महज 3 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम सांप खेड़ा की है.

बाप-बेटी की जहर खाने से मौत, इस कारण पूरे परिवार ने लिया था सामूहिक आत्महत्या का फैसला
सांकेतिक तस्वीर

मनोज जैन/शाजापुर: मध्य प्रदेश के शाजापुर में पिता और बेटी द्वारा जहर खाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. घटना शाजापुर जिला मुख्यालय से महज 3 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम सांप खेड़ा की है.दोनों के शव को पोस्टमार्टम जिला चिकित्सालय में किया गया. कोतवाली पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू की.

क्या है पूरा मामला? 
शाजापुर निवासी सुशील अग्रवाल की ग्राम सांपखेड़ा में 4 बीघा जमीन है, मृतक ईश्वर सिंह (40 वर्ष) एवं गुड्डू खां ने इस जमीन को सब्जी बोने के लिए लीज पर ली थी, 4 महीने पहले इस जमीन को लीज पर लेकर दोनों ने सब्जी बोई और जब सब्जी की फसल तैयार हो गई तो गुड्डू खां और ईश्वर सिंह के बीच विवाद होने लगे. गुड्डू ईश्वर सिंह को खेत पर नहीं आने दे रहा था. गुड्डू खां अकेले खेत से सब्जी तोड़कर बेच रहा था. अपने साथ हुए इस धोखे को ईश्वर सह नहीं पाया. उसके परिवार की आर्थिक स्थिति भी खराब थी. जिसके चलते कल पूरे परिवार ने जहर खाने का निर्णय लिया.

ये भी पढ़ें-ग्वालियर: सालभर में 13000 लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा, 7 कलेक्टर, 2 आयुक्त समेत 30 अफसरों को नोटिस

आत्महत्या करने के लिए बकायदा बाजार से जहर खरीदकर लाया गया.आज सुबह ईश्वर सिंह एवं उसकी बेटी खुशबू उम्र (16 वर्ष) ने जहर खा लिया. ईश्वर सिंह की पत्नी जहर खाती उसके पहले ही उसका बेटा जहर की पुड़िया लेकर भाग गया, जिससे मां और बेटे दोनों बच गए. पिता-पुत्री की जहर खाने से हालत बिगड़ने लगी, जिसके बाद उन्हें उपचार के लिए शाजापुर लाया गया, लेकिन जब तक उनकी मौत हो चुकी थी.

Watch live tv-