close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र: शिवसेना को तीन मंत्री कुर्सियों की आस, सूबे से कई नए चेहरे नजर आना तय

केंद्र में फिर से काबिज होने जा रही नरेंद्र मोदी सरकार में महाराष्ट्र को करीब आठ से नौ मंत्री मिल सकते हैं. मोदी कैबिनेट में सूबे से कई नये चेहरे नजर आना तय हैं. महिला चेहरा को भी शामिल किया जा सकता है. शिवसेना नई मोदी कैबिनेट में तीन मंत्री कुर्सियों की आस लगाए बैठी है. 

महाराष्ट्र: शिवसेना को तीन मंत्री कुर्सियों की आस, सूबे से कई नए चेहरे नजर आना तय
सूत्रों के मुताबिक शिवसेना इस बार अपने कोटे में राज्यपाल पद आने की भी उम्मीद लगाए बैठी है.

मुंबई: केंद्र में फिर से काबिज होने जा रही नरेंद्र मोदी सरकार में महाराष्ट्र को करीब आठ से नौ मंत्री मिल सकते हैं. मोदी कैबिनेट में सूबे से कई नये चेहरे नजर आना तय हैं. महिला चेहरा को भी शामिल किया जा सकता है. शिवसेना नई मोदी कैबिनेट में तीन मंत्री कुर्सियों की आस लगाए बैठी है. 

सूत्रों के मुताबिक शिवसेना इस बार अपने कोटे में राज्यपाल पद आने की भी उम्मीद लगाए बैठी है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बीच पनपे मधुर रिश्तों की बुनियाद पर शिवसेना की उम्मीदें बढ़ी हुईं हैं. प्रचंड बहुमत से दोबारा आई मोदी सरकार में केंद्र की कैबिनेट महाराष्ट्र के कोटे में आठ से नौ मंत्री मिलने की उम्मीद है.

इस बार महाराष्ट्र से कुछ महिला चेहरे भी मोदी कैबिनेट में दिखाई पड़ सकते हैं. 18 सांसदों की ताकत लेकर एनडीए में दोबारा सबसे बडा घटक बनकर उभरी बीजेपी की सहयोगी शिवसेना इस बार केंद्र सरकार की कैबिनेट में अपने कोटे में कम से कम तीन मंत्रियों की आस लगाए बैठी है. हालांकि सूत्र बताते हैं कि मोदी सरकार में शिवसेना के कोटे से दो मंत्री बनाने पर सहमति बन पाई है. जिसमें एक कैबिनेट मंत्रालय और दूसरा राज्यमंत्री पद.  

शिवसेना में मंत्री बनने के कई उम्मीदवार
इसमें कैबिनेट कुर्सी के लिये शिवसेना की महिला सांसद भावना गवली का नाम सबसे आगे है. लगातार पांचवीं बार जीतकर संसद पहुंची भावना गवली का विदर्भ इलाके से यवतमाल वाशिम संसदीय क्षेत्र में दबदबा है. मोदी कैबिनेट में राहुल शेवाले, अनिल देसाई, विनायक राउत, संजय राउत भी रेस में हैं. मोदी कैबिनेट में पिछली बार अनिल देसाई राज्यमंत्री बनने से चंद कदम की दूरी पर ही थे और चूक गए थे. मोदी कैबिनेट में मंत्री रहे अनंत गीते चुनाव हार गए हैं जबकि दूसरे शिवसेना के कद्दावर सांसद चंद्रकांत खैरे, शिवाजीअढलराव पाटिल, आनंदराव अडसुल के चुनाव हारने से शिवसेना में नए चेहरों का मोदी कैबिनेट में जाना तय माना जा रहा है. 

मोदी  सरकार टू में महाराष्ट्र से कुल आठ से नौ मंत्री बन सकते हैं. सूबे से बीजेपी और शिवसेना गठबंधन की झोली में 41 सांसद मिले हैं. जिसमें बीजेपी के 23 और शिवसेना के 18 सांसद हैं. बीजेपी कोटे से सूबे से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल और प्रकाश जावडेकर, सुभाष भामरे, रामदास अठावले की दोबारा ताजपोशी तय है. जबकि कई नई चेहरे मोदी कैबिनेट में मंत्री बनने की आस लगाए बैठे हैं. इसमें मराठा जाति के मराठवाडा इलाके के प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राव साहब दानवे का नाम काफी आगे है. इसके अलावा, विदर्भ के वर्धा से जीते ओबीसी जाति के बीजेपी सांसद रामदास तडस,सांगली से जीते मराठा सांसद संजय काका पाटिल  के नाम रेस में है. मोदी कैबिनेट महाराष्ट्र को इस बार कुछ महिला चेहरे मिल सकते हैं.

 

महिला ओबीसी चेहरो को मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है. इसमें  रक्षा खड़से - (उत्तर महाराष्ट्र -ओबीसी - रावेर), डा.हिना गावित और प्रीतम मुंडे के नाम रेस मे है. महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव सिर पर हैं. लिहाजा, मोदी कैबिनेट में सूबे के मंत्री कोटे का खास खयाल रखा जाना तय है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से फडणनवीस सरकार के मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने बंद दरवाजा बैठक की और माना जा रहा है कि दोनों में इन मुद्दों पर भी चर्चा हुई.  

शिवसेना मंत्री कुर्सियों के अलावा इस बार राज्यपाल कु्र्सियों पर भी नजर गड़ाए हुए हैं. हालांकि एनडीए को इस बार दक्षिण भारत और पश्चिम बंगाल, तेलंगाना के अलावा जेडीयू और दूसरे एनडीए घटकों की भी मांगे पूरी करने की चुनौती है. ऐसे में विपक्ष का दावा है कि शिवसेना को एनडीए में ज्यादा तव्वजो नहीं मिल रही. एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक का कहना है कि शिवसेना को ज्यादा तव्वजो नहीं मिल रही, वो उम्मीदे लगाए बैठे हैं. 

शिवसेना पिछली बार भी मोदी कैबिनेट में और मंत्रालय की मांग को लेकर खासा अडी हुई नजर आई थी. हालांकि इस बार प्रचंड बहुमत से जीती बीजेपी के सामने शिवसेना का बार्गेनिंग पावर लगभग खत्म है लेकिन सूबे के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी शिवसेना की उम्मीदों पर खरी उतरने की हर कोशिश कर रही है.