महाराष्ट्र सरकार से वार्ता सफल, किसान सभा का लॉन्ग मार्च स्थगित

महाराष्ट्र सरकार की तरफ से मंत्री गिरीश महाजन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किसान सभा के नेताओं की सभी मांगें मान लेने की बात कही. 

महाराष्ट्र सरकार से वार्ता सफल, किसान सभा का लॉन्ग मार्च स्थगित
किसानसभा के नेता जेपी गावित ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार के लिखित आश्वासन के बाद आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की...(फाइल फोटो)

योगेश खरे. नासिक: महाराष्ट्र सरकार सें सफल वार्ता के बाद किसान सभा ने किसान का मार्च आंदोलन स्थगित करने कि घोषणा की गई. इससे पहले, महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन और पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने किसान नेताओं के साथ बातचीत की. शाम को पहली दौर की वार्ता बेनतीजा खत्म हुई थी जिसके बाद दूसरी मीटिंग में महाराष्ट्र के मंत्री और किसान सभा के नेताओं में सहमती बनी और आंदोलन खत्म किया गया.
 
महाराष्ट्र सरकार की तरफ से मंत्री गिरीश महाजन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किसान सभा के नेताओं की सभी मांगें मान लेने की बात कही. किसानसभा के नेता जेपी गावित ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार के लिखित आश्वासन के बाद आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की. सिंचाई, वन अधिकार, सूखा, राशन, इन प्रश्नों पर महाराष्ट्र सरकार ने लिखत आश्वासन दिया है. साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने किसानों की जो मांगें मानी है, उन पर महाराष्ट्र सरकार और किसान सभा के बीच दो महीने बाद मीटिंग होगी. इस आश्वासन के बाद किसान सभा ने मार्च स्थगित करने की घोषणा की.
  
किसानों की प्रमुख मांगें महाराष्ट्र सरकार ने मान ली हैं, उस पर नजर डलते हैं:

1. सिंचाई, वन अधिकार, सूखा, राशन, इन मुद्दों पर महाराष्ट्र सरकार ने लिखत आश्वासन दिया. 
2. वर्ष 2016 -17 के वंचित  किसानों को कर्जमाफी दी जाएगी.  ये बात सरकार ने मानी.
3. मंदिर - देवस्थान जमीन को लेकर किसानों के हक में कानून बनाने का वादा किया. 
4. संजय गांधी निराधार योजना का पेंशन बढ़ाया जाएगा. 
5. वनअधिकार कानून के तहत आदिवासियों की जमीन के मामले तीन महिने में सुलझाए जाएंगे.
6. बीमा योजना से वंचित किसानों को न्याय देंगे.
7. अंमल को लेकर महाराष्ट्र सरकार और किसान सभा के बीच दो महिने बाद मीटिंग होगी.
8. नदी जोड़ो परियोजना से जुड़ा पानी गुजरात के बजाए महाराष्ट्र के नासिक और जलगांव जिले को मिलना चाहिए, इस पर जल्द ही निर्णय करेंगे.