त्रिपुरा में माणिक सरकार के काफिले को रोकने की कोशिश
Advertisement

त्रिपुरा में माणिक सरकार के काफिले को रोकने की कोशिश

मंगलवार को करीब 20 प्रदर्शनकारियों ने जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग पर माणिक सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें ‘‘वापस जाने’’ को कहा. 

विरोध प्रदर्शन का कारण अब तक पता नहीं चल पाया है.

अगरतला: त्रिपुरा के ढलाई जिले में ‘‘अज्ञात बदमाशों’’ ने पार्टी की बैठक में हिस्सा लेने जा रहे विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार का रास्ता बाधित कर दिया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को इसकी जानकारी दी . 

उन्होंने बताया कि मंगलवार को करीब 20 प्रदर्शनकारियों ने जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग पर माणिक सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें ‘‘वापस जाने’’ को कहा. 

पुलिस अधीक्षक सुदीप्त दास ने बताया कि बदमाश अपना विरोध जताने के लिए जिला मुख्यालय अंबासा में माकपा मुख्यालय के बाहर जमा हो गए. माणिक सरकार ने अंबासा में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक बुलायी थी. 

विरोध प्रदर्शन का कारण पता नहीं है, लेकिन ऐसा लगा कि प्रदर्शनकारियों का किसी राजनीतिक दल से जुड़ाव नहीं था. पुलिस के पहुंचने के बाद वे लोग वहां से चले गए. घटना की निंदा करते हुए माकपा ने एक बयान में इसे ‘‘लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला’’ बताया. 

Trending news