close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने बदली प्लानिंग, यहां समझें

बालाकोट में भारतीय वायु सेना के एयर स्ट्राइक के बाद खुफिया एजेंसियों से ZEE न्यूज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक जबसे भारतीय वायु सेना ने बालाकोट में जैश के कैंप पर हमले की कारवाई की है. उसके बाद से पाकिस्तानी सेना बेहद दवाब में हैं और वह लगातार अपनी रणनीति में बदलाव करने में लगी हुई है. 

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने बदली प्लानिंग, यहां समझें
पाकिस्तान ने अपनी सीमा की सुरक्षा में बदलाव किया है. फाइल तस्वीर

नई दिल्ली: बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप पर भारत के सर्जिकल स्ट्राईक से पाकिस्तान बुरी तरह डर गया है. पाकिस्तानी सेना और आईएसआई ये समझ नहीं पा रही है कि भारत के खिलाफ किस तरह से आतंकी हमले को अंजाम दिया जाये. साथ ही भारत के जवाबी कारवाई से खुद को कैसे बचाया जाये. बालाकोट में भारतीय वायु सेना के एयर स्ट्राइक के बाद खुफिया एजेंसियों से ZEE न्यूज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक जबसे भारतीय वायु सेना ने बालाकोट में जैश के कैंप पर हमले की कारवाई की है. उसके बाद से पाकिस्तानी सेना बेहद दवाब में हैं और वह लगातार अपनी रणनीति में बदलाव करने में लगी हुई है. 

बालाकोट हमले के बाद तैयार खुफिया एजेंसियों के रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान भारत से लगी अपनी सीमा को मजबूत करने में लगा हुआ है, ताकि वह भारत के हमले से खुद को बचा सकें. आइये हम आपको बताते हैं कि बालाकोट के हमले के बाद पाकिस्तान भारत के खिलाफ क्या रणनीति बना रहा है?

खुफिया एजेंसियों का बड़ा खुलासा
-पाकिस्तानी एयफोर्स से कहा गया है कि वह लंबे समय से पेंडिग पड़े हथियारों और रडार की खरीद करें. पाकिस्तान लाइन ऑफ कंट्रोल और भारत से लगी सीमा के आस पास रडार सिस्टम को मजबूत करने में लगा हुआ है, जिससे बालाकोट जैसा एक औऱ हमले को टाला जा सके. 

- पाकिस्तानी सेना ने पीओके में मौजूद सभी टेरर कैंप में मौजूद आतंकियों से कहा है कि वह खुलेआम हथियार लेकर पीओके या लाईन आफ कंट्रोल के आस पास न जाये. साथ ही बिना पाकिस्तानी वर्दी पहने बिना आतंकियों को कैंप से बाहर निकलने पर रोक लगा दी गई है. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ये हैं कि पाकिस्तान इन आतंकियों को भारत के सैटलाइट्स औऱ ड्रोन्स से बचाना चाहता है.

-पाकिस्तानी सेना अतंराष्ट्रीय दवाब के चलते कुछ महीनों के लिए टेरर कैंप्स को अपनी सक्रियता कम करने के लिए कहा है जिससे दवाब कम होते ही फिर से भारत में बड़ी संख्या में आतंकियों की घुसपैठ कराई जा सके.

-पाकिस्तान की आईएसआई अफगानिस्तान के हक्कानी नेटवर्क,जैश ए मोहम्मद ,तालिबान और आईएसआईएस आतंकियों के बीच बैठक करा रही है जिससे भविष्य में तालिबानी आतंकियों से भारत पर हमले कराये जा सके.

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी जैश ए मोहम्मद और मौलाना मसूद अजहर के खिलाफ लगे बैन से जहां परेशान है. वहीं अफगानिस्तान से सटे अफगानिस्तान और पाकिस्तान सीमा के नजदीक पाकिस्तान जैश ए मुतकी (Jaish-E-Mutqi)  नाम से एक नये आतंकी गुट को बनाने में लगा हुआ है.रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने इससे जुड़े आतंकियों की ट्रेनिंग के लिए मीरमशाह शहर में टेरर कैंप्स बनाने में लगा है. मीरमशाह पाकिस्तान के नार्थ वजीरस्तान का हिस्सा है और ये अफगानिस्तान से  महज 60 किलोमीटर की दूरी पर है.

-पाकिस्तान की आइएसआई (ISI) अब नेपाल के जरिये जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले के साजिश रच रही है. ख़ुफ़िया एजेंसीज़ की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कुछ महीनो में आतंकियों के नेपाल जा कर  ISI के ऑपरेटिव के साथ-साथ आतंकी गुटों के कमांडर्स से मिलने के इनपुट मिले हैं.

-पाकिस्तानी एयफोर्स से कहा गया है कि वो लंबे समय से पेंडिग पड़े हथियारों और रडार की खरीद करें. पाकिस्तान लाईन ऑफ कंट्रोल और भारत से लगी सीमा के आस पास रडार सिस्टम को मजबूत करने में लगा हुआ है, जिससे बालाकोट जैसा एक औऱ हमले को टाला जा सके. 

-पाकिस्तान भारतीय वायु सेना के जंगी जहाजों को सिस्टम को जैम करने के लिए दुनिया के कुछ देशों से रडार जैमर खरीदने में लगा हुआ है. जिससे हमले के वक्त भारत के कम्यूनिकेशन सिस्टम को ब्रेक किया जा सके.

-पाकिस्तान सियालकोट से सुचेतढं तक नये कम्यूनिकेशन सिस्टम लगा रहा है, जिससे वो पाकिस्तानी सेना के नेटवर्क को मजबूत कर सके. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक ,पुलवामा हमले के बाद से पाकिस्तान पर बेहद दवाब है. भारत ने ये साफ कर दिया है कि वो पाकिस्तान के किसी भी आतंकी कारवाई का जवाब देगा. ऊरी में हमले के बाद सर्जिकल स्ट्राईक और फिर पुलवामा के बाद बावाकोट में एयर स्ट्राईक. यानि भारत का संदेश साफ है कि वो अब आतंक बर्दाश्त नहीं करेगा. पूरी दुनिया पाकिस्तान के खिलाफ खड़ी हो गई है और यही वजह है कि पाकिस्तान अपनी रणनीति को नये सिरे से बना रहा है.

भारतीय खुफिया एजेंसियां और सेना लगातार सीमा पर होने वाली गतिविधियों पर नज़र रख रही है. पिछले कुछ महीनों में सीमा पर आतंकियों के मूवमेंट कम हुए हैं, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि पाकिस्तान बदल गया है. पाकिस्तान लागातार भारत के खिलाफ अपनी रणनीति बनाने में लगा हुआ है.