close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विकास की रेस में दौड़ेगा जम्मू कश्मीर, मोदी सरकार कराएगी इन्वेस्टर समिट; PM करेंगे उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा था जम्मू कश्मीर व्यापार और उद्योग को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार हर संभव कोशिश करेगी. यहां निवेश बढ़ाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे. शुक्रवार को वित्त मंत्रालय के साथ देश के तमाम कारोबारियों की हुई बैठक में जम्मू कश्मीर निवेश के मसले पर चर्चा हुई.

विकास की रेस में दौड़ेगा जम्मू कश्मीर, मोदी सरकार कराएगी इन्वेस्टर समिट; PM करेंगे उद्घाटन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले जम्मू कश्मीर इन्वेस्टर समिट का उद्धाटन करेंगे.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में धारा 370 और आर्टिकल 35 ए निष्प्रभावी होने के साथ ही केंद्र सरकार यहां विकास विकास की रफ्तार तेज करने में जुट गई है. इसके लिए सबसे पहले केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में इन्वेस्टर समिट कराने का फैसला लिया है. सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) खुद ही इन्वेस्टर समिट का उद्घाटन करेंगे. अक्टूबर-नवंबर में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में पहला इन्वेस्टर समिट का आयोजन हो सकता है. हालांकि अभी तक इसकी तारीख पक्की नहीं हुई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा था जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) व्यापार और उद्योग को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार हर संभव कोशिश करेगी. यहां निवेश बढ़ाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे. शुक्रवार को वित्त मंत्रालय के साथ देश के तमाम कारोबारियों की हुई बैठक में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) निवेश के मसले पर चर्चा हुई.

लाइव टीवी देखें-:

कारोबारियों ने साफ किया की धारा 370 हटाने के बाद, इंडस्ट्री लीडर अलग-अलग सेक्टर में निवेश करने के लिए जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) का रुख करेंगे. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में टूरिज्म, होटल इंडस्ट्री, फ़ूड पार्क जैसे अहम सेक्टर में निवेश और रोडमैप को लेकर इंडस्ट्री बॉडी CII ने बाकायदा एजेंडा भी तैयार किया है. सूत्रों के मुताबिक इसको लेकर दो बातों पर गौर करके अंतिम मुहर लगेगी.

यहां आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को धारा 370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ था. इस कारण यहां की सरकारों की मर्जी के बिना उद्योग धंधे नहीं लगाए जा सकते थे. कोई भी बाहरी कारोबारी यहां अपना रोजगार नहीं शुरू कर सकता था, लेकिन अब भारतीय संसद और राष्ट्रपति ने राज्य में धारा 370 को निष्प्रभावी कर दिया है. अब यहां भारत के अन्य हिस्सों की तरह कारोबारी आकर रोजगार शुरू कर पाएंगे.