REET Exam में बड़ी लापरवाही, निशक्तजन युवती को नहीं मिला परीक्षा के लिए अधिक समय

नियम के मुताबिक, निशक्तजन अभ्यर्थी को अतिरिक्त समय दिया जाता है लेकिन अन्य अभ्यर्थियों के साथ ही निशक्तजन युवती की उत्तर पुस्तिका को केंद्र बीक्षक ने छीन लिया.

REET Exam में बड़ी लापरवाही, निशक्तजन युवती को नहीं मिला परीक्षा के लिए अधिक समय
प्रतीकात्मक तस्वीर

Dholpur: राजस्थान के धौलपुर (Dholpur News) जिले में आयोजित हुई रीट (REET Exam 2021) परीक्षा में जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग द्वारा बड़ी लापरवाही का मामला सामने आई है. शिक्षा विभाग की घोर लापरवाही की बदौलत 70 फीसदी निशक्तजन युवती को अतिरिक्त समय नहीं दिया गया, जिसके कारण निशक्तजन युवती का पेपर अधूरा रह गया.

यह भी पढ़ेंः Chomu: रीट परीक्षा में पकड़े गए 5 मुन्नाभाई, SHO ने कार्रवाई को दिया अंजाम

नियम के मुताबिक, निशक्तजन अभ्यर्थी को अतिरिक्त समय दिया जाता है लेकिन अन्य अभ्यर्थियों के साथ ही निशक्तजन युवती की उत्तर पुस्तिका को केंद्र बीक्षक ने छीन लिया. मामला राजकीय पीजी कॉलेज का है, जहां बसई नवाब कस्बा निवासी 22 वर्षीय युवती राधारानी पुत्री बाबूलाल रीट (REET) की परीक्षा देने गई थी.

युवती के मुताबिक उसे आंखों से 70 फीसदी ही दिखाई देता है. चिकित्सा विभाग द्वारा 70 फीसदी निशक्तजन का मेडिकल भी बनाया हुआ है. युवती ने बताया निशक्तजन प्रमाण पत्र शिक्षा विभाग को सौंप पर पूर्व में अवगत कराया था.

यह भी पढ़ेंः Chomu: रीट परीक्षा के दौरान महिला को हुई प्रसव पीड़ा, जयपुर किया गया रेफर

अभ्यर्थी युवती ने कहा कि रीट परीक्षा शुरू होने पर उसे उम्मीद थी कि अतिरिक्त समय दिया जाएगा लेकिन परीक्षा का समय अन्य अभ्यर्थियों का पूरा होने पर उसकी भी उत्तर पुस्तिका को केंद्र बीक्षक द्वारा ले लिया गया. युवती के मुताबिक उसके साथ नाइंसाफी हुई है. आंखों से कम दिखाई देने के कारण उत्तर पुस्तिका अधूरी रह गई. मीडिया के समक्ष पहुंचकर युवती ने अपनी वेदना अवगत कराया है और कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री (CM Ashok Gehlot) और शिक्षा मंत्री (Govind Singh Dotasra) को इसकी शिकायत दर्ज कराई जाएगी. 

Reporter- Bhanu Sharma