जोधपुर में बना सर्वजातीय मोक्ष धाम, जल्द होगा लोकार्पण

पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार ने सभी निकायों में सर्वजातीय मोक्ष धाम बनाने का निर्णय लिया था. 

जोधपुर में बना सर्वजातीय मोक्ष धाम, जल्द होगा लोकार्पण
मोक्षधाम को सुदर्शन सेवा समिति ने गोद लिया है. (फाइल फोटो)

अरूण हर्ष, जोधपुर: देश में सुर्खियों में ऐसे मामले आए दिन सामने आते हैं जब किसी व्यक्ति की मृत्यु होने के बाद भी उसे अंतिम संस्कार के लिए जगह नहीं मिल पाई या किसी क्षेत्र में दबंगों ने उस व्यक्ति का अंतिम संस्कार नहीं करने दिया. इस तरह की घटनाओं के बाद पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार ने सभी निकायों में सर्वजातीय मोक्ष धाम बनाने का निर्णय लिया था. जिसके बाद जोधपुर नगर निगम की ओर से करीब 1 करोड़ रुपए की लागत से बनी सर्वजातीय मोक्ष धाम बनकर तैयार हो चुका है. जिसका जल्द ही लोकार्पण किया जाएगा .

इस संबंध में महापौर घनश्याम ओझा ने बताया कि इस मोक्षधाम के बन जाने के बाद कोई भी समाज का व्यक्ति अपने परिचित या रिश्तेदार की मृत्यु हो जाने पर उसका अंतिम संस्कार कर सकेगा. उन्होंने कहा कि नगर निगम ने इस मोक्षधाम को सुदर्शन सेवा समिति ने गोद दिया है और यही संस्था इसकी देखरेख का जिम्मा संभालेगी.

मोक्ष धाम में आने वाले लोगों के लिए छाया, पानी, पार्किंग, बैठने की समुचित व्यवस्था की गई है, साथ ही यहां आने वाले लोगों को अच्छा वातावरण मिले इसके लिए निगम अब यहां हरियाली भी विकसित कर रहा है. इसके अलावा यहां एक बड़ा स्टोर रूम और ऑफिस भी बनाया गया है. साथ ही संस्कार के दौरान आने वाले लोगों के लिए हॉल, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की गई है. संस्था ने कहा कि यह मोक्षधाम जल्द क्रियाशील हो जाएगा.

हाईकोर्ट ने जताई थी जातिगत मोक्षधाम पर आपत्ति

हाई कोर्ट ने भी अपने फैसले में यह आदेश दिया था कि कोई भी समाज किसी को मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार संस्कार के लिए इंकार नहीं कर सकता. लेकिन इसके बावजूद भी कई बार सामाजिक बाध्यताओं के चलते अंतिम संस्कार में काफी परेशानी होती थी. खासतौर से समाज निचले तबके और आर्थिक रूप से पिछले हुए लोगों को इस परेशानी का सामना करना पड़ता था. इस मोक्षधाम के शुरू होने से अब इन तरह की घटनाओं पर निश्चित रूप से रोक लगेगी.