महवा: गोवर्धन पूजा के दिन मिली डेड बॉडी मामले में हुआ खुलासा, एक गिरफ्तार
topStories1rajasthan1449138

महवा: गोवर्धन पूजा के दिन मिली डेड बॉडी मामले में हुआ खुलासा, एक गिरफ्तार

Mahwa News: महवा विधानसभा क्षेत्र में गोवर्धन पूजा के दिन झाड़ियों में एक युवक का शव संदिग्ध अवस्था में मिला था. परिजनों ने संदिग्ध अवस्था में मौत का मामला सलेमपुर थाने में दर्ज कराया. 

महवा: गोवर्धन पूजा के दिन मिली डेड बॉडी मामले में हुआ खुलासा, एक गिरफ्तार

Mahwa News, Dausa: राजस्थान के दौसा के महवा विधानसभा क्षेत्र के सलेमपुर थाना अंतर्गत 26 अक्टूबर गोवर्धन पूजा के दिन खेडला में बाड़ा बुजुर्ग की सड़क के किनारे झाड़ियों में एक युवक का शव संदिग्ध अवस्था  में मिला था, जिसकी शिनाख्त सूरज जाटव निवासी सहीडा के पुरा के रूप में हुई. 

परिजनों ने संदिग्ध अवस्था में मौत का मामला सलेमपुर थाने में दर्ज कराया, लेकिन 5 नवंबर को मृतक के चाचा भीम सिंह ने दोबारा थाने में 2 लोगों को नामजद करते हुए हत्या का मामला दर्ज कराया, जिसकी पुलिस ने जांच करते हुए नामजद लोगों में से एक जने साहिड़ा का पूरा निवासी शेर सिंह को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने विकास जाटव के साथ सूरज की हत्या करने का मामला कबूल किया.  

थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि पुलिस को पहले से ही शक था और संदिग्धों पर नजर बनाए हुए थे, लेकिन हत्या का नामजद मामला दर्ज होते ही गंभीरता से लेते हुए पुलिस की टीम बनाकर सलेमपुर, भौपुर, खेडला, बालघाट एवं अन्य संदिग्ध जगहों पर आरोपियों की तलाश की. पीछा करते हुए शुक्रवार देर शाम एक आरोपी शेर सिंह को महू के पास दस्तयाब कर लिया. दूसरे आरोपी को भी शीघ्र तलाश कर पकड़ लिया जाएगा. 

यह था मामला
26 अक्टूबर को दिन में खेडला में बड़ा बुजुर्ग सड़क के समीप झाड़ियों में एक युवक का शव बड़ा होने की जानकारी ग्रामीणों ने सलेमपुर थाना पुलिस को दी. सलेमपुर थाना पुलिस ने शव को कब्जे में कर शिनाख्त की तो, मृतक की पहचान साहिडा का पूरा निवासी सूरज जाटव के रूप में हुई. उस समय परिजनों ने संदिग्ध अवस्था में मौत होने का मामला दर्ज कराया, लेकिन बाद में परिजनों को पता चला कि सूरज की हत्या की गई है, तो उन्होंने थाने में नामजद 2 लोगों और उनके अन्य साथियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है. 

प्रथम दृष्टया प्रेम-प्रसंग का था मामला
पुलिस के अनुसार, प्रथम दृष्टया मामला प्रेम-प्रसंग का प्रतीत हो रहा है. मृतक की पत्नी और मुख्य आरोपी भोपर निवासी विकास के प्रेम संबंध थे और सूरज के इन संबंधों में विरोध करने पर सूरज की हत्या कर दी गई. मामले का खुलासा मुख्य आरोपी विकास के गिरफ्तार होने के बाद ही हो सकेगा. 

मामले का खुलासा करने और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए थाना प्रभारी बाबूलाल के नेतृत्व में टीम गठित की गई. टीम में कांस्टेबल रविंदर चौधरी, कांस्टेबल धीरज सिंह कांस्टेबल बड्डन लाल और दौसा साइबर सेल के महेंद्र सिंह की कड़ी मेहनत से आरोपी की गिरफ्तारी हो सकी है. मुख्य आरोपी अभी गिरफ्त से बाहर है. 

Reporter- Laxmi Sharma

Trending news