close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जैसलमेर में आयोजित हो रहा आर्मी जॉईंट वॉर गेम, चीन और रूस की सेना भी लेगी भाग

इस आर्मी जॉईंट वॉर गेम प्रतियोगिता का मुख्य आयोजन आगामी 6 ये 14 अगस्त के बीच जैसलमेर में किया जायेगा.

जैसलमेर में आयोजित हो रहा आर्मी जॉईंट वॉर गेम, चीन और रूस की सेना भी लेगी भाग
आयोजन आगामी 6 ये 14 अगस्त के बीच किया जायेगा.

मनीष रामदेव, जैसलमेर: भारत-पाकिस्तान सीमा के पास स्थित राजस्थान के जैसलमेर में अंतर्राष्ट्रीय आर्मी जॉईन्ट वॉर के पांचवे सीजन का आयोजन हो रहा है. इस वॉर गेम एक्सरसाईज में भारत सहित 8 देशों की सेनाएं हिस्सा ले रही है. इस दौरान कई देशों की सेनाएं यहां पर अपने युद्ध कौशल का प्रदर्शन करेंगी. साथ ही अपने देशों की युद्ध तकनीकों को एक-दूसरे के साथ साझा भी करेगी. 

इससे पहले इस प्रतियोगिता के 4 सीजन का आयोजन रूस में किया गया था. इस आर्मी जॉईंट वॉर गेम प्रतियोगिता का मुख्य आयोजन आगामी 6 ये 14 अगस्त के बीच जैसलमेर में किया जायेगा. इस दौरान प्रतिभागी देशों की सेना के जवान अपने यु़द्ध कौशल को दिखाएंगे.

तैयारियों को दिया जा रहा अंतिम रुप
जैसलमेर में भारतीय सेना के इस महत्वपूर्ण आयोजन को लेकर तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. इस दौरान प्रतिभागी देशों के सैन्य प्रतिनिधियों के लिये व्यवस्थाएं की जा रही है. जॉईन्ट वार गेम एक्सरसाईज के लिये अब तक 6 देशों की सेनाएं और उनके सैन्य प्रतिनिधि जैसलमेर पहुंच चुके हैं. जबकि सूडान की सैन्य टुकडी आगामी 1 अगस्त को जैसलमेर पहुंचेगी. 

लाइव टीवी देखें-:

देश की सेना पहली बार ले रही है हिस्सा
बेटल एक्स डिवीजन के मेजर जनरल तरुण कुमार आईच ने मीडिया को कार्यक्रम की जानकारी दी. इस दौरान उन्होंने बताया कि इस तरह की वॉर गेम का आयोजन रूस में होता रहा है. लेकिन पहली बार भारत की सेना इस एक्सरसाईज का हिस्सा बनी है. लिहाजा इस आयोजन की मेजबानी भी भारत ने ली है.  

देश को मिली मेजबानी
उन्होंने बताया कि इससे पहले विभिन्न देशों की सेनाओं को -30 डिग्री के तापमान में इस तरह की एक्सरसाईज का अभ्यास करना पड़ता था. लेकिन इस बार इस प्रतियोगिता में नवाचार के रूप में भारत के जैसलमेर को इस प्रतियागिता के आयोजन के लिये चुना गया. ताकि 45 डिग्री से भी उपर के तापमान में किस तरह से युद्ध कौशल का प्रदर्शन किया जाता है इसका अभ्यास किया जा सके.

चीन और रूस भी लेंगे हिस्सा
आपको बता दें कि इस महत्वपूर्ण आयोजन में भाग लेने के लिए दुनिया 6 देशों की सेनाएं जैसलमेर पहुंच चुकी है. जिनमें चीन और रूस भी शामिल हैं. इस दौरान प्रतिभागी देशों के डेलिगेट्स ने इस आयोजन का फीडबैक लेने के अलावा कार्यक्रम स्थल का जायजा भी लिया. कार्यक्रम के दौरान दुनिया की कई देशों की सेनाएं कई प्रकार के साहसिक, ऐडवेंचरिक व अन्य प्रकार की गतिविधियों में भी भाग लेंगी.