Black Fungus पर हमारा पूरा कंट्रोल, बीमारी के लिए अस्पताल में बनाए गए अलग वार्ड: स्वास्थ्य सचिव

महाजन ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के लिए भी चिकित्सा विभाग पूरी तरह से हाई अलर्ट पर है. दूसरी लहर को रोकने के लिए हमने डोर-टू-डोर मॉडल पर काम कर रहे हैं.

Black Fungus पर हमारा पूरा कंट्रोल, बीमारी के लिए अस्पताल में बनाए गए अलग वार्ड: स्वास्थ्य सचिव
स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि ब्लैक फंगस को लेकर सरकार अलर्ट है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Jaipur: राजस्थान में 'ब्लैक फंगस' (Black Fungus) बीमारी महामारी घोषित हो गई है. महामारी घोषित होने के बाद इस बीमारी पर स्वास्थ्य सचिव सिद्धार्थ महाजन से कहा कि इस बीमारी पर हमारा पूरा कंट्रोल है. इस बीमारी के लिए अलग से अस्पताल में वार्ड बनाए हैं. दवा की कालाबाजारी पर लगाम लगाया जा रहा है.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के लिए भी चिकित्सा विभाग पूरी तरह से हाई अलर्ट पर है. दूसरी लहर को रोकने के लिए हमने डोर-टू-डोर मॉडल पर काम कर रहे हैं. गौरतलब है कि राजस्थान सरकार ने राज्य के कई जिलों में 'ब्लैक फंगस' (Black Fungus) के मामलों में वृद्धि को देखते हुए बुधवार को इसे महामारी करार दिया. अधिकारियों ने इसकी सूचना दी है. 

ये भी पढ़ें-राजस्थान में कोरोना संकट के बीच Black Fungus ने बढ़ाई चिंता, सरकार ने घोषित किया महामारी

 

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के प्रमुख सचिव अखिल अरोड़ा ने कहा कि ब्लैक फंगस कोविड-19 (COVID-19) के दुष्प्रभाव के रूप में उभरा है. अरोड़ा ने आगे कहा कि चूंकि इनका उपचार भी एक जैसा है इसलिए इसे राजस्थान महामारी अधिनियम के तहत एक महामारी और उल्लेखनीय बीमारी के रूप में घोषित किया गया है, जैसा कि पहले कोविड के लिए किया गया था.  

जानकारी के अनुसार, कोरोना पीड़ित मरीज को यह रोग होने की संभावनाएं अधिक रहती है. कोरोना से भी खतरनाक यह रोग माना जा रहा है. इस रोग में इंसान अपने आंखों की रोशनी बहुत जल्दी खो देते हैं और बाद में कई मामलों में लोगों की जान भी जान भी जा सकती है.