Baran में बारिश रुकने के बाद भी उफान पर नदियां, 3 गर्भवती समेत 50 लोगों का हुआ Rescue

बारां जिले में पिछले 7 दिनों से हो रही बरसात के बाद थोड़ी राहत तो मिली है लेकिन लोगों की परेशानी कम नहीं हो पाई. बीमार, बाढ़ में फंसे लोगों का आज रेस्क्यू किया गया.

Baran में बारिश रुकने के बाद भी उफान पर नदियां, 3 गर्भवती समेत 50 लोगों का हुआ Rescue
बाढ़ में फंसे लोगों का आज रेस्क्यू किया गया.
Play

Baran: जिले में बरसात का दौर थमा लेकिन नदियों मे अभी भी उफान जारी है. बीमार, जरूरमंद और बाढ़ में फंसे लोगों का रेस्क्यू (Rescue) जारी है. आज 3 गर्भवती महिलाओं को चिकित्सालय में भर्ती कराने सहित 50 से अधिक लोगों का रेस्क्यू किया गया. वहीं, 1800 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर रखा गया है.

यह भी पढे़ं- Kota में मूसलाधार बारिश से बिगड़े हालात, कई गांव बने टापू, चारों ओर जल सैलाब

 

बारां जिले में पिछले 7 दिनों से हो रही बरसात के बाद थोड़ी राहत तो मिली है लेकिन लोगों की परेशानी कम नहीं हो पाई. बीमार, बाढ़ में फंसे लोगों का आज रेस्क्यू किया गया.

यह भी पढे़ं- Baran में भारी बरसात से बेकाबू हुए हालात, उफने नदी-नालों से कटा 100 गांवों का संपर्क

 

500 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों के लिए रेस्क्यू किया गया, जिसमें केलवाड़ा के पास टापू बने अमरोली गांव से 3 गर्भवती महिलाओं का रेस्क्यू कर प्रसव के लिए केलवाड़ा चिकित्सालय पहुंचाया गया.

बरनी नदी में भी आया उफान
हरिपुरा गांव में 4 दिन से खेत पर जाने के बाद बरनी नदी में उफान में फंसने के बाद भूखे-प्यासे दो लोगों का आज रेस्क्यू किया किया गया. समरानियां के पास खेतों में रहने वाले सरदार परिवार के बाढ़ में फंसने के बाद सात लोगों का रेस्क्यू किया गया. इस तरह से आज 50 से अधिक जरूरतमंदों का रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. 

नदी में बहे युवक का निकाला शव
सीसवाली में बाढ़ की चपेट में आये ट्रैक्टर को भी बाहर निकाला गया. देवरी के पास नदी में बहे युवक की मौत हो गई, जिसका प्रशासन ने कुनू नदी से रेस्क्यू किया.

इन लोगों का भी किया गया रेस्क्यू
साथ ही जिले के शाहबाद उपखंड में भारी वर्षा के कारण प्रभावित हुए लगभग 1850 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों विद्यालय, सामुदायिक भवनों में पहुंचाते हुए भोजन, पेयजल सहित समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही है. शाहबाद के बीलखेड़ामाल से 400, कस्बानोनेरा से 300, बल्हारपुर से 100, गदरेटा से 250, दांता से 200, उनी से 350, गणेशपुरा से 100 एवं खांडा सहरोल से 150 सहित कुल 1850 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर रखा गया है. बारां जिले में एनडीआरफ, एसडीआरएफ एवं सिविल डिफेंस की टीमें आमजन के सहयोग और राहत रेस्क्यू के लिए जुटी हुई हैं. 

Reporter- RAM MEHTA