लोकसभा चुनाव 2019: अलवर सीट पर बीजेपी को कांग्रेस से मिल सकती है कड़ी चुनौती

2004 और 2009 में हुए आम चुनावों की बात करें तो राजस्थान की अलवर सीट से दोनों ही बार कांग्रेस द्वारा जीत हासिल की गई थी.

लोकसभा चुनाव 2019: अलवर सीट पर बीजेपी को कांग्रेस से मिल सकती है कड़ी चुनौती
फाइल फोटो

अलवर: देशभर में 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर केंद्र और विपक्ष दोनों ही अपनी तैयारियों में जुट गया है. एक ओर जहां सत्ता पर काबिज बीजेपी सभी राज्यों में अपनी पकड़ बनाए रखने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. तो वहीं दूसरी ओर विपक्ष भी बीजेपी को केंद्र से हटाने के लिए किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाहते है. जिसके चलते केंद्र से लेकर राज्यों तक की राजनीति गरमाइ हुई है. 

इसी बीच अगर राजस्थान की बात करें तो आपको बता दें कि राजस्थान में कुल 25 लोकसभा सीट हैं और 2014 में हुए आम चुनाव में बीजेपी द्वारा सभी 25 सीटों पर जीत दर्ज की गई थी. वहीं राजस्थान की अलवर लोकसभा सीट की बात करें तो इस सीट से 2014 में बीजेपी सांसद चांद नाथ ने जीत दर्ज की थी. उन्हें इस सीट पर कुल 642278 वोट प्राप्त हुए थे. 

हालांकि, 2004 और 2009 में हुए आम चुनावों की बात करें तो राजस्थान की अलवर सीट से दोनों ही बार कांग्रेस द्वारा जीत हासिल की गई थी. 2009 में इस सीट से कांग्रेस के जितेंद्र सिंह ने कुल 4,50,119 वोट प्राप्त किए थे. वहीं 2004 में इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. करण सिंह यादव जीते थे. 

आपको बता दें, राजस्थान का अलवर जिला 2018 में गोरक्षकों की पिटाई से हुई 2 लोगों की मौत के कारण सुर्खियों में आया था. दरअसल, 2018 में अलवर में मोब लिंचिंग के दो मामले सामने आए थे. जिसके बाद जिले में काफी हंगामा और आक्रोश की स्थिति उत्पन्न हो गई थी. हालांकि, इस सीट से सासंद रहे चांद नाथ की मौत के बाद उपचुनाव होने वाले हैं.