close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गौवंश संरक्षण अधिभार उपयोग सलाहकार समिति की होगी बैठक, मुख्य सचिव रहेंगे मौजूद

बैठक के दौरान 8 जनवरी 2019 को लिए गए निर्णयों की पुष्टि की जाएगी.

गौवंश संरक्षण अधिभार उपयोग सलाहकार समिति की होगी बैठक, मुख्य सचिव रहेंगे मौजूद
इस दौरान कई प्रस्तावों का अनुमोदन किया जाएगा. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: गाय और उसकी नस्ल के संवर्धन एवं संरक्षण के लिए स्टांप ड्यूटी पर लगाए गए अधिभार के उपयोग के संबंध में शुक्रवार को सचिवालय में बैठक होगी. मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की अध्यक्षता में गौवंश संरक्षण अधिभार उपयोग सलाहकार समिति की 8वीं बैठक शाम 4 से 6 बजे तक आयोजित होगी. इस दौरान कई बिंदुओ पर चर्चा होगी.

बताया जा रहा है कि बैठक के दौरान 8 जनवरी 2019 को लिए गए निर्णयों की पुष्टि की जाएगी. इसके साथ ही गौसंरक्षण संवर्धन निधि में स्टांप ड्यूटी और मदिरा की बिक्री के वैट पर लगाए गए अधिभार से प्राप्त 31 मई तक राजस्व की समीक्षा होगी. वहीं, 2019-20 में गौशालाओं को देय सहायता राशि को लेकर विचार भी होगा.

साथ ही वित्तीय वर्ष 2019-20 में बड़े गौवंश के लिए 40 और छोटे गौवंश के लिए 20 रुपए प्रतिदिन की दर से जारी आदेश का कार्यानुमोदन के अलावा वित्तीय वर्ष 2018-19 के दि्वतीय चरण जनवरी महीने की सहायता राशि के वितरण के लिए राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड से लिए गए 73 करोड़ रुपए का अनुमोदन पर विचार होगा.

बैठक के दौरान वित्तीय वर्ष 2018-19 के दि्वतीय चरण फरवरी महीने की सहायता राशि के लिए रेगिस्तानी जिले की गौशालाओं को आवंटित 35 करोड़ रुपए का कार्योतर अनुमोदन, वित्तीय वर्ष 2018-19 के दि्वतीय चरण फरवरी-मार्च महीने की सहायता राशि के लिए अतिरिक्त बजट 127 करोड़ का अनुमोदन, वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए नंदी गौशाला जन सहभागिता योजना, गौशाला विकास योजना, गौअभ्यारण्य योजना, गौशाला बायोगैस सहभागिता योजना को लेकर निर्णय लिया जाएगा.

इसके अलावा जिला स्तरीय गौपालन समिति पाली की ओर से भेजे गए श्री जिनेंद्र गौशाला समिति सोमेसर तह रानी को वित्तीय वर्ष 2018-19 के प्रथम चरण की सहायता राशि के निर्णय को लेकर विचार होगा.

मदिरा की बिक्री पर लगाए गए अधिभार से प्राप्त राजस्व का उपयोग गौसंरक्षण के लिए है, प्राप्त राजस्व को गौसंरक्षण निधि में जमा कराने के लिए निधि नियम 2016 के बिंदु संख्या 4 में संशोधन आवश्यक होने को लेकर चर्चा हो सकती है.

गौवंश संरक्षण को लेकर होने वाली बैठक में एसीएस कृषि पीके गोयल, एसीएस पंचायतीराज राजेश्वर सिंह, एसीएस वित्त निरंजन आर्य, सचिव आपदा प्रबंधन एटी पेडनेकर सहित कई अन्य अधिकारी मौजूद रहेंगे.