राजस्थान: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस बढ़ा सकती है महिला उम्मीदवारों की संख्या

प्रत्याशियों के चयन के पैरामीटर के सवाल पर पायलट ने कहा कि हमारी कोशिश है कि जिताऊ और मजबूत जनाधार वाले नेता को टिकट मिले

राजस्थान: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस बढ़ा सकती है महिला उम्मीदवारों की संख्या
राजस्थान में कांग्रेस सभी 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी

जयपुर: लोकसभा चुनाव के लिए राजस्थान कांग्रेस ने अपना होमवर्क पूरा कर लिया है. 8 मार्च को दिल्ली में होने वाली स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में सूची को अंतिम रूप दे दिया जाएगा. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने साफ किया टिकट भी प्रत्याशियों के चयन के लिए कोई पैरामीटर तय नहीं है. जिताऊ और मजबूत जनाधार वाले नेता को टिकट देना प्राथमिकता रहेगी. एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर पायलट के अपना स्टैंड साफ करते हुए कहा कि वह सेना के शौर्य और पराक्रम पर गर्व करते हैं लेकिन केंद्र सरकार को इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट आज पीसीसी में मीडिया से रूबरू हुए. इस अवसर पर सचिन पायलट ने देश में सीमा पर तनाव और पाकिस्तान में हुई एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों के सबूत के सवाल पर अपना स्टैंड साफ करते हुए कहा कि वे भी आर्मी बैकग्राउंड से आते हैं और उन्हें आर्मी के शौर्य और पराक्रम पर पूरा भरोसा है. वायु सेना की तरफ से जो बयान दिया गया है वही अंतिम सत्य है. लेकिन इस मुद्दे पर केंद्र सरकार को राजनीति नहीं करनी चाहिए. कांग्रेस के शासन काल में भी सीमाएं महफूज थीं और वर्तमान सरकार भी देश की तरफ उठने वाली प्रत्येक चुनौती का मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है. लोकसभा चुनाव सेना के  पराक्रम के मुद्दे की बजाए देश की ज्वलंत समस्याओं के मुद्दे पर लड़ा जाना चाहिए.

पायलट ने कहा कि लोकसभा चुनाव की तैयारियों के प्रत्याशियों के चयन को लेकर चार दौर का मंथन हो चुका है. सभी 25 लोकसभा सीटों के कार्यकर्ता पदाधिकारी पार्टी नेताओं से फीडबैक लिया जा चुका है. 8 मार्च को दिल्ली में संगठन महासचिव रामगोपाल की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक होगी. बैठक में कांग्रेस अपने नामों पर मुहर लगा देगी.

प्रत्याशियों के चयन के पैरामीटर के सवाल पर पायलट ने कहा कि हमारी कोशिश है कि जिताऊ और मजबूत जनाधार वाले नेता को टिकट मिले. हालांकि पूर्व विधायक हारे हुए विधायक पूर्व एमपी वर्तमान मंत्री और पॉलीटिकल फैमिली के सदस्यों को भी टिकट मिल सकता है. पायलट ने एक बार फिर से साफ किया कि उनके परिवार का कोई भी सदस्य चुनाव नहीं लड़ेगा. पायलट ने यह भी कहा कि इस बार महिलाओं की भागीदारी बढ़ सकती है. 

सचिन पायलट ने यह भी साफ किया कि राजस्थान में कांग्रेस सभी 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. इस बार कोई गठबंधन नहीं होगा वर्तमान कांग्रेस सरकार ने जो वादे जनता से पूरे किए हैं उनको लेकर जनता के बीच पार्टी जाएगी. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का इसी महीने राजस्थान दौरे के कार्यक्रम बन सकता है महासचिव प्रियंका गांधी को भी चुनाव प्रचार के लिए राजस्थान में आमंत्रित किया जाएगा. 

कुल मिलाकर सचिन पायलट ने साफ किया कि विधानसभा चुनाव में संतोषजनक परिणाम के बाद लोकसभा चुनाव के लिए वे पूरी तरह से तैयार है. राजस्थान की 25 सीटें कांग्रेस के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. इन सीटों को हासिल करने के लिए देखना होगा कि पार्टी की किन चेहरों पर दांव खेलती है. सवाल ये भी की क्या टिकट वितरण के बाद राजस्थान में कांग्रेस पार्टी एकजुट रह पाएगी या विधानसभा चुनाव की तरह पार्टी तो अंतरकलह का सामना करना पड़ेगा.