राजस्थान हाईकोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर लगी रोक बढाई, कहा- ईडी को करें सहयोग

इससे पहले दिल्ली की एक अदालत ने 16 फरवरी को धनशोधन के मामले में रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर रोक की अवधि को दो मार्च तक बढ़ा दिया था. 

राजस्थान हाईकोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर लगी रोक बढाई, कहा- ईडी को करें सहयोग
फाइल फोटो

जोधपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) की गिरफ्तारी पर लगी रोक सोमवार को आगे बढाते हुए उन्हें जांच में प्रवर्तन निदेशालय का सहयोग करने को कहा. ईडी वाड्रा से जुड़ी एक फर्म के खिलाफ कथित धन शोधन मामले की जांच कर रही है. न्यायमूर्ति पीएस भाटी ने वाड्रा के वकील की ओर से जांच में सहयोग का आश्वासन मिलने के बाद मामले की सुनवाई के लिए 15 मार्च की तारीख तय की है. वाड्रा के वकील कुलदीप माथुर ने अदालत को बताया, ''अदालत के निर्देशानुसार वाड्रा 12 फरवरी को ईडी के समक्ष उपस्थित हुए थे और जांच में सहयोग कर रहे हैं.'' बता दें कि रॉबर्ट वाड्रा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई हैं. 

इससे पहले दिल्ली की एक अदालत ने 16 फरवरी को धनशोधन के मामले में रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर रोक की अवधि को दो मार्च तक बढ़ा दिया था. वाड्रा के खिलाफ यह मामला प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दर्ज किया था. ईडी ने अपने वकील नितेश राणा के जरिए अदालत को बताया था कि मामले में वाड्रा से पूछताछ करने की जरूरत है और उनकी ओर से सहयोग नहीं किए जाने को आधार बनाकर अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया. 

वाड्रा ने इन आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि जब भी बुलाया गया या जब भी जरूरत पड़ी वह पूछताछ के लिए आने के लिए तैयार थे. अदालत ने मामले की सुनवाई स्थगित करते हुए कहा कि अदालत की अनुमति के बगैर वाड्रा की गिरफ्तारी पर लगी रोक जारी रहेगी. अदालत ने दो फरवरी को उनकी अग्रिम जमानत की अवधि 16 फरवरी तक बढ़ा दी थी और उनसे ईडी के समक्ष पेश होने एवं मामले में सहयोग करने को कहा था. यह मामला लंदन के 12, ब्रायनस्टोन स्कॉयर में 19 लाख पाउंड कीमत की एक संपत्ति की खरीद में हुए धनशोधन के आरोपों से जुड़ा हुआ है जिसपर मालिकाना हक कथित तौर पर वाड्रा का है.

(इनपुट भाषा से)