close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुर्जर आंदोलनकारियों के साथ गहलोत सरकार की आज होगी अहम बैठक

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान पिछले 13 साल में दर्ज हुए मुकदमों के निस्तारण पर शुक्रवार को गहलोत सरकार एक अहम बैठक करने जा रही है.

गुर्जर आंदोलनकारियों के साथ गहलोत सरकार की आज होगी अहम बैठक
कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व उनकी टीम इस बैठक में शामिल होगी. (फोटो साभार:ANI)

जयपुर: गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान पिछले 13 साल में दर्ज हुए मुकदमों के निस्तारण पर शुक्रवार को गहलोत सरकार एक अहम बैठक करने जा रही है. इस बैठक में आंदोलनकारियों पर दर्ज मुकदमों से लेकर आरक्षण की कानूनी रक्षा करने के मुद्दों पर सरकार के प्रतिनिधि चर्चा करेंगे. जिसमें गुर्जर समाज के प्रतिनिधी भी शामिल होंगे. 

बताया जा रहा है कि इस बैठक में गुर्जर समाज के प्रतिनिधि के अलावा मंत्रिमंडलीय उप-समिति के तीन मंत्री के साथ राज्य सरकार के सीएस और डीजीपी सहित 12 सरकारी प्रतिनिधि शामिल होंगे. 

मिल रही खबर के अनुसार, गुर्जरों के प्रतिनिधि के तौर पर कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व उनकी टीम इस बैठक में शामिल होगी. बैठक के दौरान गुर्जरों की उन तमाम मांगों को पूरा करने के लिए कार्यवाही होगी. जिन बातों पर गुर्जरों और सरकार के प्रतिनिधियों के बीच सवाई माधोपुर मलारना में आरक्षण आंदोलन के दौरान बातचीत हुई थी.

आपको बता दें कि, गुर्जरों की मांग पर गहलोत सरकार ने एक मंत्रिमंडलीय उप समिति का गठन किया है. जिसमें पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा शामिल हैं. प्रदेश में पहला मौका है जब गुर्जर आंदोलन में सबसे कम 15 मुकदमे दर्ज हुए है. इस आंदोलन को छोड़कर पिछले 12 साल में गुर्जर आरक्षण आंदोलन में करीब 754 मुकदमे दर्ज हुए है. जिनमें से 105 मामले कोर्ट में विचाराधीन है. 

इन बिंदुओं को लेकर होगी चर्चा

सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में देवनारायण योजना को कार्यान्वित करने पर आरोप बनाने को लेकर विचार किया जाएगा. इसके साथ साथ 7 से 8 भर्तियों में गुर्जरों को आरक्षण देने को लेकर चर्चा की जाएगी. इसके अलावा आंदोलनकारियों पर दर्ज पुराने मुकदमे को लेकर भी सरकार के साथ बातचीत हो सकती है.