जयपुर: खूब काम कर रही उत्तर पश्चिम रेलवे की ये एप्प, टिकट बुकिंग से जमकर हो रही कमाई

अभय शर्मा ने बताया कि वर्ष 2019-20 में अब तक 1 लाख 81 हजार 920 यात्रियों ने यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प के माध्यम से टिकट बुक किए, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 3 गुना से भी ज्यादा है. 

जयपुर: खूब काम कर रही उत्तर पश्चिम रेलवे की ये एप्प, टिकट बुकिंग से जमकर हो रही कमाई
यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प से टिकट लेने वाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है.

दामोदर प्रसाद, जयपुर: यात्रियों को लंबी लाइनों से निजात देने के लिए रेलवे प्रशासन ने यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प (UTS on Mobile app) की शुरुआत की है. यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प से टिकट लेने वाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है. 

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 3 गुना से ज्यादा यात्रियों ने एप्प के माध्यम से टिकट प्राप्त किए. रेलवे प्रशासन ने यात्रियों की सुविधा के लिए अनारक्षित टिकट प्राप्त करने वाले यात्रियों के लिए यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प की शुरुआत की है. साथ ही रेलवे स्टेशनों पर क्यूआर कोड जारी किया गया है, जिसको मोबाइल पर स्कैन करते ही स्टेशन की पूरी डिटेल सामने आ जाती है. इससे टिकट बुकिंग करने में काफी आसानी होती है. 

ऑफलाइन टिकट की बजाय ऑनलाइन टिकट सस्ती मिलती है
उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अभय शर्मा ने बताया कि यात्रियों को बिना लाइनों में लगे जल्द से जल्द टिकट प्राप्त हो सके, उसके लिए यूटीएस ऑन मोबाइल एप्प लॉन्च किया गया है. उन्होंने बताया कि पहले आरक्षित टिकट ऑनलाइन मिलते थे लेकिन इसके बाद अनारक्षित टिकट भी ऑनलाइन मिलने की प्रक्रिया शुरू की गई है. ऑनलाइन टिकट बुकिंग पर डिस्काउंट सुविधा भी दी गई है, जिससे ऑफलाइन टिकट की बजाय ऑनलाइन टिकट सस्ती मिलती है.

पेपरलेस टिकट बनने से पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा 
अभय शर्मा ने बताया कि वर्ष 2019-20 में अब तक 1 लाख 81 हजार 920 यात्रियों ने यूटीएस ऑन मोबाइल एप के माध्यम से टिकट बुक किए, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 3 गुना से भी ज्यादा है. यूटीएस ऑन मोबाइल एप के माध्यम से अजमेर मंडल पर 18 हजार 753 यात्रियों ने, जयपुर मंडल पर 89 हजार 305 यात्री, बीकानेर मंडल पर 51 हजार 418 यात्री और जोधपुर मंडल पर 22 हजार 444 यात्रियों ने टिकट बुक किए हैं. 

उत्तर-पश्चिम रेलवे पर वर्ष 2019 के दौरान अब तक 31 लाख 54 हजार 785 रुपये की आय प्राप्त की गई है, जो कि गत वर्ष 9 लाख 21 हजार 470 रुपये थी. यानी इस बार आय में भी 3 गुना वृद्धि हुई है. यात्री ई-टिकट की भांति ही कहीं से भी अपनी अनारक्षित टिकट बुक कर सकते हैं साथ ही डिजिटल भुगतान और एप में पेपरलेस टिकट बनने से पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा मिल रहा है.

क्या है यूटीएस मोबाइल एप्लीकेशन
यूटीएस मोबाइल एप्लीकेशन एक आसान एप्लीकेशन है, जो जीपीएस सपोर्ट करने वाले एंड्राइड, आईओएस और विंडोज स्मार्टफोन पर निःशुल्क उपलब्ध है. यात्री इस एप को गूगल प्ले स्टोर या विंडोज स्टोर से निःशुल्क डाउनलोड कर सकते हैं. उत्तर-पश्चिम रेलवे पर विभिन्न महत्वपूर्ण स्टेशनों पर सुविधाजनक और शीघ्रता से पेपरलेस अनारक्षित मोबाइल टिकट प्राप्त करने के लिए क्यूआर कोड जारी किए गए हैं जिसका उपयोग कर यात्री शीघ्रता के साथ अपना टिकट प्राप्त कर सकते हैं.

Jasmine Sharma, News Desk